नाश्ते की ब्रेड कितनी स्वास्थ्य के लिए अच्छी है आइये ये जाने

हमारे खाना बिना ब्रेड के अधूरा है। हमारी पसंद के कई व्यंजन बिना ब्रेड के खाये नहीं जा सकते है। आज बाजार में तरह तरह के ब्रेड उपलब्ध जैसे ब्राउन ब्रेड , गार्लिक ब्रेड, होल वीट ब्रेड आदि। ब्रेड बनाने के लिए आटा , थोड़ी चीनी ,यीस्ट , दूध ,आयल और प्रेज़रवेवेटिव का इस्तेमाल किया जाता है। इसके आलावा टेस्ट बढ़ाने के लिए अलग अलग सामग्री का प्रयोग किया जाता है।

क्या आप अलग अलग तरह की ब्रेड और उसकी पोषकता के बारे में जानते है ? नहीं तो हम आज आप को अलग अलग प्रकार की ब्रेड और उसकी पोषकता के बारे में बताते है। 

वाइट ब्रेड —– इसको बनाने के लिए मैदा का इस्तेमाल किया जाता है। मैदा बनाते समय आटे के सारे पोषक तत्व हटा लिए जाते है इसलिए मैदा केवल कार्बोहाइड्रेट्स का एक साधन है। यदि आप वाइट ब्रेड खाना ही चाहते है तो इसको अंडे , सब्जियों और फलों आदि के साथ खाये। ब्रेड पर बटर लगा कर नहीं क्योकि इससे आपको सिर्फ एनर्जी मिलेगी पोषण नहीं।

ब्राउन ब्रेड —- ज्यादातर ब्रेड बनाने वाली कम्पनिंयाँ इस बात का दावा करती है की ब्राउन ब्रेड बनाने के लिए वो आटे का इस्तेमाल करती है पर ऐसा होता नहीं है। ये कम्पनियाँ ब्रेड को ब्राउन करने के लिए कलर या कैरेमल का इस्तेमाल करती है। ये पोषकता में वाइट ब्रेड जैसी होती है। फिर भी यदि आप ब्राउन ब्रेड खरीदना ही चाहते है तो पैक पर इसमें डालने वाली सामग्री देख ले और देख ले की इस पर होल वीट फ्लार लिखा हो।

होल वीट ब्रेड —- मार्किट में मिलने वाली होल वीट ब्रेड थोडी सेहत के लिए अच्छी होती है क्योकि इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है। ये पचने में आसान होती है पर इस ब्रेड को खरीदने से पहले पैक पर लिखी सामग्री पढ़ ले क्योकि अकसर ये ब्रेड होल वीट की नहीं होती है। आप को अच्छे ब्रांड का इस्तेमाल करना चाहिए।

मल्टीग्रेन ब्रेड — इस ब्रेड को बंनाने में आटा , रागी , ओट्स , सनफ्लॉवर सीड्स , फ्लैक्स सीड्स आदि होते है। जब भी ब्रेड को ख़रीदे उस पर लिखी सामग्री को अच्छी को अच्छे से देख ले। ज्यादातर सामान पर सामग्री लिखते समय इस्तेमाल में होने वाली सामग्री ऊपर लिखते है और कम इस्तेमाल में होने वाली सामग्री सबसे नीचे लिखी जाती है। मल्टीग्रेन ब्रेड में मैदा या आटा 50 से 60 प्रतिशत होता है। 

सैंडविच ब्रेड —- ये ब्रेड आकार में मोटी और बड़ी होती है ताकि स्टफिंग ज्यादा और अच्छी तरह से होल्ड हो सके। यह मैदा ,आटा ,और मल्टीग्रेन में मिलती है और ज्यादातर इसका प्रयोग होटल ,रेस्टोरेंट आदि में होता है। 

फ्रूट ब्रेड —- इस ब्रेड में वनीला ,पाइनएप्पल आदि फ्रूट्स एस्सेस और टूटीफ्रूटी मिलाई जाती है पर इसमें किसी भी फ्रूट का इस्तेमाल नहीं होता है। ये थोडी से मीठी स्वाद में होती है। कुछ बेकरी पर फ्रूट वाली ब्रेड भी मिलती है। 

फ्लेवर्ड ब्रेड —- ये कई फ्लेवर में मिलती है जैसे गार्लिक ,मशरूम और चीज़ ब्रेड आदि। सबसे ज्यादा बिकने और खाने के लिए पसंद करने वाली गार्लिक ब्रेड है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »