इस मंदिर जहां की जाती हैं मुस्लिम महिला की पूजा

झूलासन नाम का एक गांव जो गुजरात की राजधानी अहमदाबाद से लगभग 40 किलोमीटर दूर स्थित हैं इस गांव में एक मंदिर हैं जिसकी यह खासियत हैं कि इसमें डोला माता नाम कि मुस्लिम महिला को पत्थर रूप में देवी मानकर पूजा की जाती हैं,

इस देवी का जिक्र हिंदू धर्म ग्रंथों में कहीं नहीं है। यह मन जा ता हैं कि यहां पर जो भी मन्नत मांगी जाती है, वह पूरी होती हैं।  यह मंदिर हिन्दू-मुस्लिम एकता और एक महिला की वीरता का प्रतिक माना जाता हैं यहाँ पर रहने वालो का कहना हैं की डोला माता गांव की रक्षा करती हैं और लोगों की तकलीफें भी दूर करती हैं। 

  • क्यों होती हैं डोला माता की पूजा :- 

डोला माता के मदिर के बारे में जानने के बाद यह सवाल उठता हैं कि आखिर डोला माता को देवी रूप में क्यों पूजा जाता है तो इसके बारे कहा जाता हैं की करीबन 800 वर्ष पूर्व इस गांव पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया था जिनसे डोला ने वीरतापूर्वक उन बदमाशों से गांव की रक्षा की और शहीद हो गई थी ।

माना जाता हैं कि डोला का मृत शरीर एक फूल में बदल गया था। इसी कारण गांव के लोगो ने डोला माता की वीरता के सम्मान में उनकी मृत भूमि अर्थात जहां पर डोला ने अपने प्राण त्याग दिए थे वहां पर उनकी स्मृति में मंदिर के रूप में पूजते हैं,

और इस मंदिर में कोई मूर्ति न होकर यहां केवल एक पत्थर है जिस पर रंगीन कपड़ा ढंका है। यह मंदिर इन्ही खास बातो से प्रसिद्ध हो गया हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »