दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज़ों की संख्या 12.73 लाख पर पहुंची

दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज़ों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अब यह संख्या 12.73 लाख पर पहुंच गई है, जबकि 69,400 से अधिक लोगों की मौत हुई। अमेरिका में मरीजों की संख्या 25 फीसदी से ज्यादा है। वहां की सरकार ने अगला सप्ताह बेहद कठित बताया है।

अमेरिका में कोरोना के अब तक 331000 मामलों की पुष्टि हुई है। अमेरिका इटली और स्पेन के बाद तीसरा ऐसा देश हैं जहां कोरोना के कारण सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। इटली में अब तक 15880 और स्पेन में 12400 लोगों की मौत कोरोना से हो चुकी है।

हालांकि, चीन के थिंक-टैंक यूके के थिंक-टैंक से इतर राय रखते हैं. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन समेत कई नेताओं ने इस रिपोर्ट को आधारहीन बताया है. उनका कहना है कि कोरोना वायरस वुहान से ही बाकी देशों में फैला, ये दावा बिल्कुल गलत है. इसका कोई आधार नहीं है. बता दें कि अंतरराष्ट्रीय मीडिया में ऐसी खबरें हैं कि कोरोना वायरस चीन के वुहान स्थित एक वायरोलॉजी लैब से एनिमल मार्केट में फैला, जो लैब से कुछ मीटर की दूरी पर ही है. इसके बाद ये पूरी दुनिया में फैल गया. चीन शुरुआत से इन खबरों को खारिज करता आया है.

दुनिया के तमाम देशों की ही तरफ कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप झेल रहे पाकिस्तान के लिए उसकी खस्ता हाल अर्थव्यवस्था ने संकट को और बढ़ा दिया है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने खुद ही संकेतों में कहा है कि उनके देश के सामने एक तरफ कुआं और दूसरी तरफ खाई वाली स्थिति पैदा हो गई है। इमरान ने ट्विटर पर अपने एक ट्वीट में इस संकट का उल्लेख किया है कि कुल आबादी का 25 फीसदी हिस्सा गरीबी रेखा से भी नीचे है और इनकी रोजी रोटी के लिए देशव्यापी संपूर्ण लॉकडाउन किस हद तक समस्याएं लेकर आ सकता है, साथ ही अगर लॉकडाउन से बचा जाए या इसे खत्म किया जाए तो यह कोरोना महामारी मौत बनकर समाज पर टूट सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ads by Eonads
Translate »