रातों-रात रहस्यमयी तरीके से गायब हुए, गांव के सारे लोग,वजह जानकर हो जाएंगे

आज के समय में बहुत से रहस्यों का पता लग चुका है तो बहुत से आज भी रहस्य बने हुए हैं, लेकिन आज आपको चौकाने वाले एक रहस्यमयी गांव के बारे में बताएंगे कनाडा का एक गांव 89 साल से रहस्य बना हुआ है। यहां अंजिकुनी झील के किनारे एक गांव बसा हुआ था, लेकिन बाद में रहस्यमयी तरीसे से लोग गायब हो गए।

यह रहस्य आज तक नहीं सुलझ पाया है कि आखिर उस गांव में रहने वाले लोग कहां गए। आपको बता दें साल 1930 में ‘जो लाबेल’ नाम का एक व्यक्ति भटकते हुए इस गांव में पहुंचा। चूंकि उस समय ठंड का मौसम था, इसलिए वो गर्म जगह की तलाश में यहां तक पहुंचा। वह पहले भी इस गांव में आ चुका था और उसे पता था यहां कोई न कोई व्यवस्था हो ही जाएगी,

जहां वह रात काट सके।जब वह शख्स गांव में पहुंचा तो उसने मदद के लिए लोगों को आवाज लगाई, लेकिन उसे अपनी आवाज के अलावा किसी और की आवाज सुनाई नही दी। चारों तरफ सन्नाटा पसरा हुआ था। उसे वहां ना तो कोई इंसान नजर आ रहा था और ना ही किसी जानवर की आवाज आ रही थी। हालांकि वह रात काटने के लिए एक घर में घुसा, लेकिन वह यह देखकर हैरान रह गया कि घर का सारा सामान बिल्कुल वैसा का वैसा ही रखा हुआ है।

किचन में आधा पका हुआ खाना पड़ा था और चूल्हा भी जल रहा था। ऐसा लग रहा था, जैसे अभी-अभी खाना बना हो। लाबेल काफी घबराया हुआ था। वह तुरंत उस घर से निकल आया और दूसरे घर में घुस गया, लेकिन वहां भी उसे कुछ वैसा ही नजारा दिखा, जैसा वो पहले घर में देख चुका था। अब तो उसके रोंगटे खड़े होने लगे। वह तुरंत बाहर भाग आया।

लाबेल ने गांव से बाहर आकर इस रहस्यमयी घटना की सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद छानबीन शुरू हुई पुलिस ने आसपास के गांवों में जाकर लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि कुछ दिन पहले वहां एक अजीब सी चमकती हुई रोशनी दिखाई पड़ी थी, जो बार-बार अपना आकार बदल रही थी और वह लगातार अंजिकुनी गांव की तरफ ही बढ़ रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »