यह है भगवान राम की रहस्यमयी गुफा का राज

सदियां गुजरने के बाद आज भी कुछ जगह रहस्य बनी हुई हैं लेकिन बहुत का राज खुल चुका है। आज आपको भगवान राम की रहस्यमयी गुफा के बारे में बताएंगे जिसके बारे में आपने शायद ही सुना होगा।

राजस्थान में बांसवाड़ा जिले का एक शहर है। वहां ये गुफा है बांसवाड़ा राज्य की स्थापना महारावल जगमाल सिंह ने की थी। यह जगह बांस के जंगलों के लिए चर्चित होने के साथ-साथ भगवान राम के लिए भी जानी जाती है।

ये जगह उदयपुर से लगभग 150 किमी दूर स्थित है। बांसवाड़ा को ‘सौ द्वीपों का शहर’ भी कहा जाता है क्योंकि यहां बहने वाली माही नदी पर कई छोटे द्वीप हैं। राजस्थान में बाकि शहरों की तरह, बांसवाड़ा भी ऐतिहासिक स्मारकों, मंदिरों और अन्य अद्भुत पर्यटन स्थलों का मनोरम स्थान है।

भगवान राम ने 14 साल के वनवास की अवधि के दौरान अपनी पत्नी सीता और भाई लक्ष्मण के साथ बांसवाड़ा का दौरा किया था। इस क्षेत्र में भटकने के दौरान, वे एक पहाड़ की गुफा में पहुँचे जिसके नीचे ताजे पानी का एक कुंड था। कहा जाता है कि अपनी प्यास बुझाने के लिए, तीनों लोगों ने इस गुफा में प्रवेश किया और कुछ समय बिताया।

राम कुंड बांसवाड़ा के मुख्य शहर से 25 किमी दूर स्थित है। यह एक बंजर और अलग-थलग इलाके में पहाड़ियों से घिरा हुआ है। एक गुफा के अंदर प्रकृति निर्मित पानी के तालाब का नजारा काफी आश्चर्यजनक तथ्य है। चूंकि गुफा लगभग 400 मीटर जमीन से दूर स्थित है इसलिए पर्यटकों को खास मार्ग के जरिए पहाड़ी पर पहुंचना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *