जानिए मोटापा कम करने के लिए क्या खाना चाहिए

क्या आप अपना वजन घटाने की कोशिश में सफल नहीं हो पा रहे हैं? कहीं ऐसा तो नहीं कि आप क्या खाते हैं वो इसके लिए ज़िम्मेदार हो और आपको पता ही न हो? क्या आपको समझ नहीं आ रहा है कि वजन कम करने के लिए क्या खाएं और क्या नहीं? आप परेशान न हों, क्योंकि यहां बताया जा रहा है कि किस तरह का आहार खाकर आप अपने वजन को कम कर सकते हैं। ज़्यादातर हम भारतीयों को अपने आहार को नियंत्रित करने में मुश्किल इसलिए आती है क्योंकि भारतीय भोजन में कार्बोहाइड्रेट और चीनी अधिक होती है और हम बहुत अधिक आलू, चावल और मिठाई खाते हैं।

हमें स्नैक्स बहुत पसंद होता है और हम नमकीन और भुजिआ खाए बिना तो एक दिन भी नहीं रह सकते हैं। मेहमान नवाजी और स्नेह के कारण हम अपने मित्रों और परिवार वालों को ज्यादा खाने के लिए दबाव डालते हैं। इन सब से हटकर हम प्रतिदिन अनिवार्य रूप से व्यायाम भी नहीं करते हैं। यह कोई आश्चर्य नहीं है कि ज़्यादार भारतीय मोटापे की समस्या से जूझते हैं।

वजन का घटना और बढ़ना आपके कैलोरी के सेवन और कैलोरी के बर्न पर निर्भर करता है। जब कैलोरी जलाने की तुलना में कम कैलोरी का सेवन करते हैं तो आपका वजन कम होता है। इसके विपरीत जब आप कैलोरी जलाने की तुलना में अधिक कैलोरी का सेवन करते हैं तो आपका वजन बढ़ता है। इसलिए यदि आप अपना वजन कम करना चाहते है तो कैलोरी का कम सेवन करें और ज़रूरत के अनुसार अपनी कैलोरी को जलाएं। आपके लिए यह निर्धारित करना आसान नहीं है कि आपके शरीर को कितनी कैलोरी की ज़रूरत है क्योंकि वैसे तो चार समोसे में 600 कैलोरी, पिज्जा के दो स्लाइस में 500 कैलोरी और दो गुलाब जामुन में 385 कैलोरी होती है जो आपकी दैनिक 1500 कैलोरी की आवश्यकता के भीतर हो सकता है। लेकिन ये खाद्य पदार्थ उच्च कोलेस्ट्रॉल और रक्त शर्करा की समस्याएं पैदा कर सकते हैं। स्वस्थ तरीके से अपना वजन कम करने के लिए आपको यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि आप संतुलित आहार का सेवन करें। इसलिए खाने में सभी खाद्य समूहों को कवर करें और अच्छे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक सभी पोषक तत्व प्राप्त करें।

कार्बोहाइड्रेट हमारे शरीर की ऊर्जा का मुख्य स्रोत होता है और हमारी दैनिक कैलोरी की आवश्यकताओं का आधा हिस्सा हमें कार्बोहाइड्रेट से प्राप्त करना चाहिए। हालांकि सही प्रकार के कार्बोहाइड्रेट का सेवन करना महत्वपूर्ण है। साधारण कार्बोहाइड्रेट जैसे रोटी, बिस्कुट, सफेद चावल और गेहूं के आटे में बहुत अधिक शुगर होता है यह हमारे लिए हानिकारक हो सकते हैं। इनके बजाय जटिल कार्बल्स को चुनें जिनमें पोषक तत्वों के साथ साथ अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर युक्त जटिल कार्बोहाइड्रेट धीमी गति से पचता है जिससे आप लंबे समय तक पूर्ण महसूस कर सकते हैं। इसलिए यह वजन कम करने के लिए अच्छा विकल्प है। इसके लिए आप ब्राउन चावल, बाजरा, रागी और ओट का सेवन कर सकते हैं।

अधिकांश भारतीय अपनी दैनिक प्रोटीन की आवश्यकता को पूरा करने में असफल रहते हैं। शरीर को ऊतक, मांसपेशियों, नरम हड्डी और त्वचा के निर्माण और उन्हें ठीक रखने के साथ-साथ रक्त संचार करने में प्रोटीन की आवश्यकता होती हैं। प्रोटीन युक्त आहार आपको वजन कम करने में भी मदद कर सकता है क्योंकि यह मांसपेशियों को बनाने में मदद करता है जो कि वसा की तुलना में अधिक कैलोरी जलाती हैं। आपके अपने आहार का लगभग 30% आपको पूरे दाल, पनीर, चने, दूध, हरी सब्ज़ियों, अंडे, सफेद मांस या स्प्राउट्स के रूप में मिलना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »