जानिए कोरोना के अब तक विभिन्न लक्षणों के बारे में

कोरोना वायरस व्यक्ति संक्रमित से स्वस्थ्य व्यक्ति में फैलता है। व्यक्ति में वायरस का इंफेक्शन होने पर अपर रेस्पिरेट्री ट्रेक्ट इलनेस की समस्या हो जाती है। ये समस्या धीमे-धीमे शुरू होकर बढ़ने लगती है। फिलहाल कुछ लोगों में कोरोना वायरस के शुरूआती लक्षण नहीं दिखाई दे रहे हैं, जिसे बहुत खतरनाक माना जा रहा है। कोरोना वायरस कुछ लोअर रेस्पिरेट्री ट्रेक्ट इलनेस के लक्षण भी दिखा सकता है.

कोरोना के नए लक्षणों में डायरिया के लक्षण भी देखने को मिल रहे हैं। कोरोना के नए लक्षण के अंतर्गत 20 प्रतिशत मरीजों में डायरिया की शिकायत देखने को मिली है। कोरोना संक्रमित कई मरीजों ने शिकायत की है कि उन्हें न तो किसी खाने की महक महसूस हो रही है और न ही खाते समय स्वाद आ रहा है। यानी कोरोना के नए लक्षणों में सर्दी और जुकाम के लक्षण नहीं पाए गए बल्कि लोगों में स्वाद और सूंघने की क्षमता में परेशानी की बात सामने आ रही है।

कोरोना वायरस पर की गई कुछ पुरानी स्टडी में यह बात सामने आई कि वायरस ओल्फैक्टरी नर्व सेल्स को डैमेज कर सकते हैं। लोगों की सूंघने की शक्ति कमजोर होने का मुख्य कारण ओल्फैक्टरी नर्व सेल्स का डैमेज होना है।

यदि किसी इंसान की 20 से 30 प्रतिशत ओल्फैक्टरी नर्व सेल्स भी डैमेज हो जाती है तो उसकी सूंघने की शक्ति कमजोर हो जाती है। वाकई में जिन लोगों में कोरोना वायरस के नए लक्षण पाएं जा रहे हैं, उनके लिए कोरोना की बीमारी को पहचान पाना बहुत मुश्किल हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »