भारतीय चार ऐसे बेहतर बल्लेबाज जिन्हें नाराज होकर लेना पड़ा था संन्यास

आप लोग क्रिकेट गेम को तो जानते ही है।जैसे ही बल्लेबाज का उम्र 35 के पार चला जाता है तो वो बल्लेबाज अपना लय खो देता है।लेकिन कुछ बल्लेबाज 40 की उम्र तक भी फिट रहते है।भारत के पास कहीं ऐसे बल्लेबाज थे जो थोड़ा बोत क्रिकेट और खेलना चाहते थे।लेकिन उन्हें टीम में चयन नहीं किया गया तो मजबूरन संन्यास लेना पड़ा था।तो चलिए देखते है वो कोन कोन से खिलाड़ी है।

01.युवराज सिंह

इस लिस्ट में नंबर एक पर आते है युवी जिन्होंने पिछले साल क्रिकेट अंतरराष्ट्रीय को अलविदा कह दिया है।इनका इच्छा था कि वो 2019 विश्वकप खेले।लेकिन सेलेक्टर एम एस प्रसाद ने इनका चयन नहीं किया।युवी नाराज हो गए और संन्यास का ऐलान कर दिया था।युवी बड़े उत्सुक थे कि वे अकरी विश्वकप खेलकर संन्यास ले।

02.रायडू

रायडू भी इतनी जल्दी सन्यास लेना नहीं चाहते थे।लेकिन इनकी लय खोने के कारण इन्हें भी बाहर निकाला गया था।ये भी पूरी तैयारी में बैठे थे कि 2019 विश्वकप खेले।लेकिन इन्हें भी सेलेक्टरों ने मौका नहीं दिया।और ये भी नाराजगी से मजबूरन संन्यास का ऐलान कर दिया था।

03.गौतम गंभीर

गंभीर को तो हम सब जानते ही है उन्होंने हमें 2007 की टी20 विश्वकप और 2011 की विश्वकप जितवाया था।लेकिन किसी ने सोचा नहीं था कि इस विश्वकप विनर को नाराज होकर क्रिकेट को छोड़ना पड़ेगा।इनकी खराब फील्डिंग की वजह से धोनी ने भी इन्हे टीम से बाहर निकाला था।फिर इन्होंने कहीं साल तक टीम में वापस आने का इंतजार किया।लेकिन सेलेक्टरों ने इन्हे दुबारा कभी मौका नहीं दिया था।इसलिए उनको नाराजगी से संन्यास लेना पड़ा था।

04.सुरेश रैना

पावर हिटर सुरेश रैना एक वक़्त था कि इनके बगैर टीम अधूरा ही लगता था।लेकिन एम एस के प्रसाद के सेलेक्टर बनते ही रैना का भी करियर लग भग ख़तम हो गया।उनके बल्ले से कुछ मैच में रन नहीं निकले तो उन्हें प्रसाद ने बाहर कर दिया।रैना ने बहुत कोशिश की टीम इंडिया में वापस आने की लेकिन उनकी हर कोशिश नाकाम रही।उन्हें टीम से निकला गया।और फिर वापस बुला नहीं रहे थे तो रैना ने नाराज होकर धोनी के साथ 15 अगस्त के दिन क्रिकेट अंतरराष्ट्रीय को अलविदा कह दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »