यदि आप को भी होती है कंप्यूटर पर टाइपिंग करते समय होती है ये परेशानी तो हो सावधान हो सकती है गंभीर बीमारी

आज के समय में लगभग हर व्यक्ति मोबाइल और कम्प्यूटर से जुड़ी हर छोटी से छोटी से बात को अच्छी तरह से जानता है. इस बात का प्रमाण हम आज के समय में बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक के हाथों में दिखने वाले बड़े बड़े महंगे गैजेट्स को देख कर ले सकते है. इस तरह के गैजेट्ससे हमें लाभ तो होता है, किन्तु इसके कई नुकसान भी हैं.

कई व्यक्तियों को आपने कहते हुए सुना होगा की हमारी दिनचर्या तो बहुत अच्छी है लेकिन फिर भी स्वास्थ्य कुछ ठीक नहीं रहता. आपको यह जानकर काफी हैरानी होगी किआपके स्वस्थ के खराब होने का कारण आपके यह गैजेट्स हैं. जब हम लगातार लैपटॉप या कंप्यूटर पर कोई कार्य करते है तो हमें इस तरह की समस्याएं होती है.

इस तरह के गैजेट्स से होने वाले आज हम आपको कई परेशानियों के बारे में बतायंगे ताकि आपका स्वास्थ्य पूर्ण रूप से स्वस्थ भी रहे और आप इन गैजेट्स पर आसानी से कार्य भी कर सके.

आंखों की समस्या

डिजिटल स्क्रीन या फिर कंप्यूटर, लैपटॉप पर अधिक समय तक कार्य करते है तो हमारी आखो पर इसका सीधा असर होता है यदि अप भी इस तरह का काम करते है तो आपकी आंखों की देखने की क्षमता कम होती जाती है. इतना ही नहीं जलन, सिर दर्द के साथ ही आंखों से पानी आना जैसी कई परेशानियां भी हो सकती हैं.

उपाय

समय समय पर आंखों को कम से कम 5-10 मिनट के लिए बंद करें.

आंखों को बीच-बीच में ठंडे पानी से धोते रहें

गर्दन की समस्या

अधिक देर तक बैठकर कम्प्यूटर पर काम करने से हमारे शरीर के कुछ भागो में खून का प्रवाह था सा जाता है, जिस वजह से गर्दन में दर्द या अकड़न जैसी परेशानियां उत्पन्न हो जाती हैं.

उपाय

समय-समय पर गर्दन को घुमाते रहे.

गर्दन की मालिश करना न भूले.

अधीर देर एक ही अवस्था में न बैठें रहे.

कंधे से संबंधित समस्या

कम्प्यूटर पर काम करने वाले व्यक्तियों को अक्सर कंधों की परेशानी से भी झुझते हुए देखा गया है. कंधों में दर्द, अकड़न होना उनके लिए आम बात हो जाती है.

बचने के उपाय

दर्द से बचने के लिए कंधें की एक्ससाइज करे.

अधिक देर तक न बेठे रहते हुए बिच-बिच में टहलते रहे.

पीठ झुका कर न बेठे सीधे बैठें.

उंगलियों और हाथों की समस्या

हाथों और उंगलियों के अधिक उपयोग से उंगलियों एवं कलाइयों में कार्पल टनल सिंड्रोम नामक परेशानी का सामना करना पद सकता है.

उपाय

लगातार काम न करते हुए बिच-बिच में कलाई को सीधे करते हुए उंगलियों को फेलाते रहे.

हाथों को स्ट्रेच करना न भूले

काम करने के दोरान 2-2 घंटे की देरी पर टाइपिंग बंद कर दें.

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »