BCCI ने ठुकराई Dream11 की 2021 और 2022 की बोली

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने बुधवार को इंडियन प्रीमियर लीग 2020 के टाइटिल स्पॉन्सर की आधिकारिक घोषणा की। बोर्ड की तरफ से इस बात की जानकारी दी गई कि IPL 2020 के लिए Dream11 को टाइटिल स्पॉन्सर बनाने का फैसला लिया गया है। चीन की मोबाइल कंपनी वीवो को चीन के साथ चल रहे सीमा विवाद के बाद विरोध की वजह से इस साल हटाने का फैसला लिया गया था।

फैंटसी गेमिंग से जुड़ी कंपनी ड्रीम11 को यूएई में इस साल खेले जाने वाले इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें एडिशन के लिए टाइटल प्रायोजक बनाया गया है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने सिर्फ इस सीजन के लिए ही ड्रीम इलेवन को प्रायोजक बनाया है। तीन साल की उसकी बोली को स्वीकार नहीं की गई।ड्रीम इलेवन ने साल 2021 और 2022 के लिए कम बोली लगाई थी जिसकी वजह से बीसीसीआई ने इसको नामंजूर कर दिया।

ड्रीम11 ने बाइजू और अनएकडेमी को पछाड़ते हुए 222 करोड़ रुपये में यह डील पक्की की है। बीसीसीआई के साथ कंपनी का करार चार महीने 13 दिन का होगा। चीनी मोबाइल फोन कंपनी वीवो की जगह ड्रीम इलेवन को यह करार दिया गया है।बीसीसीआइ के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार आइपीएल गवर्निग काउंसिल ने ड्रीम 11 को आइपीएल के 2020 सत्र के लिए मुख्य प्रायोजक बनाया है।

वीवो के नहीं आने की स्थिति में मुंबई की कंपनी ड्रीम 11 अगले दो वर्षो के लिए भी प्रत्येक वर्ष 240 करोड़ रुपये की पेशकश कर रही थी, लेकिन हम क्यों उन्हें 240 करोड़ रुपये में करार दे, जबकि कोविड–19 की परिस्थिति अगले दो वर्षो में सुधर सकती है। हमारे पास अभी भी वीवो की डील है। हमने इसे खत्म नहीं किया, बल्कि रोका है।

ऐसे में साफ है कि अगर वीवो अगले दो वषर्ष वापस नहीं आती है तो बीसीसीआइ दोबारा से मुख्य प्रायोजक के लिए ताजा प्रक्रिया शुरू करेगी, लेकिन दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग 400 करोड़ रपये से कम में तैयार नहीं होगी।आईपीएल के चेयरमैन बृजेश पटेल ने कहा, हम आईपीएल 2020 के लिए ड्रीम इलेवन का टाइटिल स्पॉन्सर के तौर पर स्वागत करते हैं। ड्रीम इलेवन ने ऑफिशियल पार्टनर से टाइटिल स्पॉन्सर के तौर पर अपने रिश्ते को और मजबूत किया है। ड्रीम इलेवन एक फैंटसी स्पोर्ट्स ब्रॉन्ड है जिसकी आईपीएल फैन के साथ साझेदारी बढ़ती जा रही है। हम ड्रीम इलेवन के साथ बेहतर चीजों की उम्मीद कर रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »