सरकार ने बाइक पर पीछे बैठने वालों के लिए कौन सा नया नियम बनाया है? जानिए

मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार बाइक के पीछे की सीट के दोनों तरफ हैंड होल्ड (हत्थे) जरूरी है, जो बाइक के पीछे बैठी सवारी की सेफ्टी के लिए है. बाइक ड्राइवर के अचानक ब्रेक मारने की स्थिति में हैंड होल्ड काफी मददगार साबित होता है. अभी तक अधिकतर बाइक में ये सुविधा नहीं होती थी.

इसके साथ ही बाइक के पीछे बैठने वाले कि लिए दोनों तरफ पायदान होना भी अनिवार्य कर दिया गया है ताकि पिछली सवारी दौनों तरफ पैर करके बैठे तो आसानी से अपने पैर टिका सके. इसके अलावा बाइक के पिछले पहिए के बाएं हिस्से का कम से कम आधा हिस्सा सुरक्षित तरीके से कवर होगा ताकि पीछे बैठने वालों के कपड़े पिछले पहिए में नहीं उलझे.

सरकार ने बाइक में हल्का कंटेनर लगाने के लिए भी दिशानिर्देश जारी किए हैं. इस कंटेनर की लंबाई 550 मिमी, चौड़ाई 510 मिली और ऊंचाई 500 मिमी से अधिक नहीं होनी चाहिए. अगर कंटेनर को पिछली सवारी के स्थान पर लगाया जाता है तो सिर्फ ड्राइवर को ही मंजूरी होगी. मतलब कोई दूसरी सवारी बाइक पर नहीं बैठ सकेगी. अगर कोई दूसरी सवारी बाइक पर बैठती है तो ये नियम उल्लंघन माना जाएगा.

सरकार ने टायर को लेकर भी नई गाइडलाइन जारी की है. इसके तहत अधिकतम 3.5 टन वजन तक के वाहनों के लिए टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम का सुझाव दिया गया है. इस सिस्टम में सेंसर के जरिए ड्राइवर को ये जानकारी मिल जाती है कि गाड़ी के टायर में हवा की स्थिति क्या है. इसके साथ ही मंत्रालय ने टायर मरम्मत किट की भी अनुशंसा की है. इसके लागू होने के बाद गाड़ी में एक्स्ट्रा टायर की जरूरत नहीं होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »