फर्जी आईडी के सिम बंद होंगे, हर 6 महीने में होगा कस्टमर का वेरिफिकेशन

भारत सरकार टेलीकॉम ऑपरेटर के प्रति सख्ती बरत रही है। टेलीकॉम ऑपरेटर द्वारा अब सिम के नाम पर होने वाला फर्जीवाड़ा भी बंद होगा। सिम को लेकर भारत देश में बहुत सारे फ्रॉड हो चुके हैं, इसमें दूसरे की आईडी पर सिम निकलवा कर कोई भी अपराधी अपराध करके फरार हो जाता है और कॉल डिटेल और सिम डिटेल निकालने पर अपराधी के बजाय निर्दोष का नाम फस जाता है।

जिसकी वजह से भारत की न्याय व्यवस्था पर उंगली उठने प्रारंभ हो जाती है। इसी घटना को मद्दे नजर रखते हुए भारत सरकार ने कुछ नहीं हम पहले भी जारी किए थे, जिसके अंतर्गत कंपनी द्वारा सिम के प्रति हुई छोटी सी भूल पर कंपनी को ₹1,00,000 का दंड भुगतान करना पड़ता था। भारत सरकार द्वारा यह हथकंडा अपनाए जाने पर भी कोई फायदा नहीं सामने आया। अब भारत सरकार ने टेलीकॉम ऑपरेटरों से साफ कह दिया है.

इस फर्जीवाड़े को बंद करने हेतु हर एक सिम के नए कनेक्शन लेने वाले उपभोक्ता को प्रत्येक 6 महीने में वेरिफिकेशन करवाना होगा यह नियम अभी मीडिया के हवाले से बाहर आया है और इसके लागू होने की तिथि अभी निश्चित नहीं की गई है। यह संपूर्ण मापदंड भारत देश में हो रहे फर्जीवाड़े और अपराध को कम करने हेतु अपनाया गया है।

भारत सरकार द्वारा यह आश लगाई गई है कि यदि सिम कार्ड ऑपरेटर का वेरिफिकेशन प्रत्येक 6 महीने में होगा, तो सिम कार्ड की हर एक जानकारी और वह किसके द्वारा यूज किया जा रहा है। इस चीज की पुष्टि होने में विलंब नहीं लगेगा और सिम कार्ड को अपराध के पश्चात जो तोड़कर फेंकने वाले कर्मकांड थे उसके भी पश्चात सिम कार्ड की डिटेल निकालकर अपराधी तक पहुंचा जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »