काजल और आईलाइनर में क्या अंतर है ? जानिए

काजल और आई लाइनर न केवल आँखों को आकर्षक बनाते हैं बल्कि इनका आपके व्यक्तित्व को निखारने में भी ख़ासा रोल रहता है। काजल जहाँ आँखों के लिए सौंदर्य के साथ साथ अपने औषधीय गुणों के लिए प्रयोग में आती है वहीँ आई लाइनर आँखों की खूबसूरती को निखारने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। काजल और आई लाइनर दोनों में कई अंतर होते हुए भी दोनों का मुख्य उद्द्येश्य एक ही है आँखो को सुंदर बनाना।

1 काजल का प्रयोग आँखों में ऊपरी और निचले पलकों के किनारे को काला करने के लिए किया जाता है वहीँ आई लाइनर का प्रयोग आँखों की ऊपरी और निचली पलकों के बाहरी भागों को कलर करने के लिए होता है जिससे आँखें अच्छी तरह से शेप्ड हो जाएँ।

2 काजल का प्रयोग महिलाएं, बच्चे और कई बार पुरुष भी करते हैं जबकि आई लाइनर का प्रयोग केवल महिलाएं करती हैं।

3 सौंदर्य प्रसाधन के साथ साथ काजल का औषधीय प्रयोग भी होता है। माना जाता है कि यह आँखों को शीतलता प्रदान करता है, संक्रमण से बचाता है और दृष्टि को तेज करता है। वहीँ आई लाइनर का प्रयोग केवल आँखों के सौंदर्य को बढ़ाने के लिए किया जाता है।

4 काजल का प्रयोग बच्चों को बुरी नज़र से बचाने के लिए भी किया जाता है जबकि आई लाइनर के साथ ऐसी कोई बात नहीं होती।

5 काजल आँखों के अंदर चले जाने पर यह आँखों को कोई नुकसान नहीं पंहुचता है जबकि आई लाइनर आँखों के अंदर जाने पर आँखों को नुकसान पंहुचा सकता है।

6 काजल केवल काले रंग में ही उपलब्ध होता है जबकि आई लाइनर कई शेड्स में उपलब्ध होते हैं।

7 काजल आँखों को गहरा दिखने में मदद करता है जबकि आई लाइनर आँखों को बड़ा और उभरा हुआ और ख़ास आकार में दिखाने में सहायता पंहुचाता है।

8 काजल प्रायः पेंसिल और क्रीमी टेक्सचर में उपलब्ध होता है जबकि आई लाइनर लिक्विड, वैक्स, जेल, पाउडर और पेंसिल में मिलता है।

9 काजल के निर्माण में प्राकृतिक पदार्थों का प्रयोग किया जाता है जबकि आई लाइनर को बनाने में कई रासायनिक पदार्थों का प्रयोग किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »