UP Board: हाईस्कूल और इंटर परीक्षा-2021 के लिए केंद्र निर्धारण नीति में हुए ये बड़े बदलाव

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा-2021 के लिए केंद्र
निर्धारण की नीति जारी हो गई है। इस बार के निर्धारण की प्रक्रिया
में बड़ा बदलाव गया है।

बोर्ड परीक्षा में पहले बालिका विद्यालयों को
सेंटर बनाया जाएगा। बालिका विद्यालयों को राजकीय और सहायता
प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों पर वरीयता दी गई है। इसके बाद जरूरत
के मुताबिक सेंटर बनाए जाएंगे।

पिछले साल राजकीय सहायता
प्राप्त और वित्तविहीन कॉलेज के आधार पर सेंटर का निर्धारण किया
गया था। इस बार परीक्षा केंद्रों पर सुविधा संबंधी जांच डीआईओएस
नहीं, बल्कि डीएम की ओर से बनाई गई टीम करेगी।

एक पाली में
150 से कम विद्यार्थियों की संख्या वालों को परीक्षा केंद्र नहीं बनाया
जाएगा। परीक्षा केंद्र बनाने की पूरी जिम्मेदारी डीएम के हवाले कर दी
गई है। डीएम की ओर से तय केंद्रों की सूची डीआईओएस यूपी बोर्ड
की वेबसाइट पर अपलोड करेंगे। यूपी बोर्ड परीक्षा में COVID-19
गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। परीक्षा में कम से कम 150
और अधिकतम 800 छात्रों का सेंटर बनाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *