Truecaller App इस्तेमाल क्यों नहीं करना चाहिए? जानिए

ट्रूकॉलर का काम करने का तरीका बहुत ही सिंपल है। जब आप अपने फोन में Truecaller App को Install करते हैं तो यह आपसे Contacts को एक्सेस करने की Permission माँगती है। और जैसे ही आप इसे परमिशन देते हैं, यह आपके सारे के सारे Contacts को अपने सर्वर पर अपलोड कर लेती है और पूरी दुनिया को बांट देती है। अब आप कहेंगे कि अगर ऐसा है तो परमिशन को Allow ही मत करो। पर समस्या यह है कि जब तक आप परमिशन को Allow नहीं करेंगे, तब तक यह App काम ही नहीं करेगी। यानि कि अगर आपको ट्रूकॉलर ऐप यूज करनी है, तो इसे Contacts की परमिशन देनी ही पड़ेगी। यह अनिवार्य है।

अगर आपने एक बार अपने फोन में ट्रूकॉलर App को Install कर लिया तो आपके सारे Contacts ट्रूकॉलर के सर्वर पर अपलोड हो जाऐंगे। फिर चाहे आप ऐप को यूज करें या ना करें, अपने फोन में रखें या ना रखें, कोई फर्क नहीं पड़ता। क्योंकि ऐप को Un-Install करने के बाद भी आपके Contacts ट्रूकॉलर के सर्वर पर मौजूद रहेंगे। आज तक जितने भी लोगों ने ट्रूकॉलर ऐप को अपने फोन में इंस्टॉल किया है, उन सबके Contacts ट्रूकॉलर के सर्वर पर मौजूद हैं। और इन्हीं Contacts की मदद से ट्रूकॉलर आपको Unknown Numbers की जानकारी देता है।

जब आप किसी Unknown नम्बर को ट्रूकॉलर पर Search करते हैं तो उसकी जानकारी इन्हीं Contacts की बदौलत दी जाती है। अब आप अंदाजा लगा सकते हैं कि ट्रूकॉलर के पास कितने सारे Contacts की Datail होगी। अगर आप अकेले Android प्लेटफार्म की ही बात करें तो इस वक्त ट्रूकॉलर ऐप के 500 मिलियन से ज्यादा Downloads हैं। 500 मिलियन मतलब 50 करोड़ (500,000,000). अब अगर एक नॉर्मल स्मार्टफोन यूजर अपने फोन में कम से कम 200-250 Contacts भी रखता है तो आप समझ सकते हैं कि 50 करोड़ फोन्स में कितने Contacts होंगे?

चलिए, 200-250 न सही, 100 ही मान लेते हैं। अगर एक फोन में 100 Contacts भी हुए, तो 50 करोड़ फोन्स में कितने Contacts होंंगे? 500,000,000×100 = 50,000,000,000 (50 अरब). और 50 अरब Contacts तो अकेले Android प्लेटफॉर्म के हैं। सोचिए, अगर iOS, BlackBerry, Symbian और Windows को भी मिला लें तो कितने Contacts होंगे? कम से कम 60-70 अरब Contacts तो आराम से हो जाऐंगे। कृपया ध्यान दें, यह सिर्फ एक अनुमानित आँकड़ा है।

दरअसल Truecaller के पास अरबों लोगों की Contact Details मौजूद है। और Contact Details से मेरा मतलब सिर्फ नाम और मोबाइल नम्बर नहीं है, बल्कि घर का पता, लोकेशन, ईमेल आईडी और फोन के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की पूरी जानकारी इसमें शामिल है। अगर आप ट्रूकॉलर ऐप यूज कर रहे हैं तो आपसे बेहतर कौन जान सकता है? क्योंकि App को Install करते वक्त आपने ट्रूकॉलर की Privacy Policy जो पढ़ी है! उसमें ये सारी चीजें विस्तार से लिखी हैंं।

Does truecaller provide correct information? अगर आप सोचते हैं कि ट्रूकॉलर द्वारा दी गई जानकारी 100% सही होती है, तो आपसे बड़ा बेवकूफ और कोई नहीं है। क्योंकि ट्रूकॉलर के पास जो भी जानकारी मौजूद है, वह सब यूजर्स के फोन से ली गई है। इसीलिए कई बार Truecaller Search के दौरान मम्मी, पापा, भैया, अंकल या ताऊजी जैसे नाम देखने को मिलते हैं। क्योंकि ट्रूकॉलर ने जिस फोन से उस कॉन्टेक्ट को उठाया है, उस फोन में वह इसी नाम से Saved था।

अगर आप Truecaller App इस्तेमाल कर रहे हैं और आपके फोन में कोई नम्बर Papa के नाम से सेव है! तो ट्रूकॉलर उस नम्बर को Papa के नाम से ही दिखाएगा। जब तक कि किसी दूसरे के फोन से उस नम्बर के Owner का सही नाम न मिल जाए।

ट्रूकॉलर आपके सभी Contacts को Public (सार्वजनिक) कर देता है, जिससे हर कोई आपके Contacts को देख सकता है। अब आप कहेंगे कि इसमें कौनसा खतरा है? तो चलिए, आपको खतरे का अहसास करवाते हैं। मान लीजिए कि आपकी Contact List में आपके परिवार के लोगों (विशेषकर महिलाओं) के नम्बर भी Save हैं, जो कि Truecaller ने सार्वजनिक कर रखे हैं।

अब कल को अगर आपकी बहन या बेटी का नम्बर किसी मनचले आशिक के हाथ लग गया तो सोचिए क्या होगा! शायद मुझे बताने की जरूरत नहीं है। लेकिन हाँ, एक बात जरूर बताना चाहूँगा। कुछ निठल्ले लोग, जिनके पास कोई काम-धंधा नहीं होता है, वे दिनभर ट्रूकॉलर पर लड़कियों के Number ही ढूँढते रहते हैं। वे अलग-अलग Numbers को सर्च करते रहते हैं, और जो नम्बर किसी लड़की के नाम से मिल जाता है, उस पर फोन कर-करके तंग करते हैं।

ट्रूकॉलर आपकी प्राइवेसी का खुल्लम-खुला हनन करता है, क्योंकि आपने इसकी परमिशन दे रखी है। साथ ही आप True Caller के Terms & Conditions यानि कि नियम व शर्तो से बँधे हुए हैं। लेकिन क्या आपको मालूम है कि ट्रूकॉलर आपके फोन से कौन-कौनसी जानकारी एक्सेस करता है? अगर आप सोच रहे हैं कि यह सिर्फ Contacts को ही एक्सेस करता है तो आप बहुत बड़ी गलतफहमी में जी रहे हैं। क्योंकि असल में आपको पता ही नहीं है कि ट्रूकॉलर आपके फोन से कितनी तरह की जानकारियाँ एक्सेस कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »