पेट से आ रही गुड़गुड़ की आवाज देती है गंभीर बीमारी का संकेत

आज के समय में हर तीसरा व्यक्ति पेट में गड़बड़ी, गैस, कब्ज जैसी समस्याओं से परेशान है। ऐसे में पेट के खराब होने या बेवजह गुड़गुड़ी की आवाज आना भी आम है, जो सही समय पर भोजन न करने की वजह से होती है। इसके कारण खाली पेट में गैस बनने भारीपन महसूस होने लगता है। मगर, लंबे समय से यह परेशानी बनी हुई है तो उसे इग्नोर ना करें क्योंकि यह किसी बड़ी बीमारी संकेत भी हो सकता है।

देता है आंत के कैंसर का संकेत

इस परेशानी पर ध्यान न देने से गंभीर समस्या भी हो सकती है। बहुत बार दवा का सेवन करने पर पेट में गुड़गुड़ी की आवाजें आती रहती है। ऐसे में डॉक्टरों द्वारा अल्ट्रासाउंड और एक्सरे करवाने को कहा जाता है, क्योंकि इसके पीछे का कारण आंत का कैंसर भी हो सकता है। इसतरह किसी भी तरह की समस्या होने पर उसे अनदेखा करने की जगह तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। ताकि समय रहते बीमारी का पता कर इलाज किया जा सके।

इसके पीछे अन्य कारण

  1. खासतौर पर लोग भोजन को जल्दी से और अच्छे से चबाकर नही खाते हैं। इससे पेट में गैस भर जाने की परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसी वजह से जब भोजन आहार नली से नीचे को उतरता है तो साथ में अंदर हवा भी प्रवेश करती है। इसके कारण पेट से आवाजें आने लगती है।
  2. भोजन को पचाने की प्रक्रिया के समय जब एंजाइम्स से खाना टूटता है तो पेट में गैस बनने लगती है, जो पेट में आवाजें निकालने की वजह बनती है।
  3. कई घंटों तक बिना कुछ खाए यानी भूखे रहने से भी पेट में गैस होने की शिकायत होती है। इससे पाचन तंत्र कमजोर होने के साथ अमाशय भी सिकुड़ने लगता है। इसके कारण पेट से गुड़गुड़ की आवाजें आने लगती है।

यूं करें बचाव

ऐसे में एक्सर्ट्स के अनुसार दो समय के खाने के बीच ज्यादा देर का अंतराल नहीं डालना चाहिए। इसके अलावा पेट से गुड़गुड़ी की आवाज आने पर तुरंत भोजन का सेवन कर लेना चाहिए। अधिक समय तक भोजन न करने से पाचन तंत्र कमजोर होने लगता है। ऐसे में खाने को पचाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। गैस की परेशानी होने पर यह पेट की दीवारों से टकराती है। इसके कारण पेट से आवाजें आने लगती है। साथ ही पाचन तंत्र कमजोर होने लगता है।

इन चीजों का रखें ध्यान

  • खाने में फाइबर और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर चीजों का सेवन करें। इसके साथ अदरक को अपनी डेली रूटीन में शामिल करें।
  • ज्यादा देर भूखे रहने से बचें।
  • भूख लगने पर तुरंत और चबा- चबा कर ही भोजन करें।
  • चाय, कॉफी आदि का सेवन नामात्र ही करें।
  • गोभी, ब्रोकली, बीन्स आदि चीजों के सेवन से गैस की परेशानी ज्यादा होती है। ऐसे में इनका सेवन करने से बचें।
  • रोजाना 8-10 गिलास पानी का सेवन करें।
  • सही व भरपूर मात्रा में नींद लें।
  • सुबह व शाम के समय सैर व योगा करें।
  • ज्यादा तला- भुना व मसालेदार भोजन खाने से परहेज रखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »