कोरोना में स्मोकिंग करने से हो सकता है इन बीमारियों का खतरा

कैंसर स्पेशलिस्ट डाॅ आशीष बताते हैं कि कोरोना के दौरान स्मोकिंग से कई प्रकार की बीमारी हो सकती है, जिनमें सबसे ज्यादा खतरा लंग कैंसर, ओरल कैंसर और किडनी के कैंसर का है। वहीं कोरोना के दौरान स्मोकिंग से पेशाब की थैली का भी कैंसर हो सकता है। इसके अलावा हार्ट अटैक की भी संभावनाएं बढ़ जाती हैं। ऐसे में जरूरी है कि कोरोना के दौरान स्मोकिंग न की जाए।

लाॅकडाउन में सभी लोग कोरोना वायरस के चलते तनाव में जी रहे हैं। सोशल मीडिया और न्यूज के माध्यम से मिलने वाली खबरों के कारण लोगों में तनाव बढ़ा है ऐसे में जिन लोगों ने घर में ही तंबाकू के पदार्थ या शराब रखी है वे इसका यूज ज्यादा कर सकते हैं। मरीज जिनको पहले से डायबिटीज, हाइपरटेंशन है या वे किसी तनाव से जूझ रहे हैं तो उन लोगों के लिए सिगरेट और तंबाकू का सेवन करना काफी खतरनाक हो सकता है। वहीं यदि कोई पहले से ही किसी दवा का सेवन कर रहा है तो इस स्थिति में यानि कोरोना के दौरान स्मोकिंग करने से दवा का असर भी कम होगा।

साइकेट्रिस्ट डा दीपक बताते हैं कि ऐसे लोग जो रेगुलर स्मोकर तो हैं, लेकिन किसी कारणवश उन्होंने सिगरेट आदि का स्टाॅक नहीं करके रखा है तो वे घबराहट महसूस कर रहे होंगे। जरूरी है कि ऐसे लोग इस बैचेनी पर काबू पाएं। यदि ये लोग इस समय को बिना सिगरेट के गुजार देते हैं तो आने वाले समय में भी वो अपने मन पर काबू पा सकते हैं।

स्मोकिंग करने वालों व शराब का सेवन करने वालों पर एक शोध किया गया जिसमें यह देखा गया है कि इसका सेवन करने से वायरस इंफेक्शन होता है। 391 लोगों पर किए गए इस शोध से पता चला कि पांच में से एक व्यक्ति सांस संबंधी वायरस से ग्रसित था वहीं 26 लोगों को सलाइन तक चढ़ानी पड़ी थी। इससे यह पता चला कि यदि ऐसे लोगों को आइसोलेट न किया गया तो यह दूसरों को भी वायरस फैलाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »