SBI का पुराना नाम क्या था? जानिए

1 जुलाई 1955 को इंपीरियल बैंक ऑफ इंडिया भारतीय स्टेट बैंक बन गया।

2 जून 1806 को कलकत्ता में ‘बैंक ऑफ़ कलकत्ता’ की स्थापना हुई थी। तीन वर्षों के पश्चात इसको चार्टर मिला तथा इसका पुनर्गठन बैंक ऑफ़ बंगाल के रूप में 2 जनवरी 1809 को हुआ।

बैंक ऑफ़ बॉम्बे तथा बैंक ऑफ़ मद्रास की शुरुआत बाद में हुई। ये तीनों बैंक आधुनिक भारत के प्रमुख बैंक तब तक बने रहे जब तक कि इनका विलय इम्पीरियल बैंक ऑफ इंडिया में 28 जनवरी 1921 को नहीं कर दिया गया।

इस समय तक इंपिरियल बैंक ऑफ़ इंडिया का कारोबार सिर्फ़ शहरों तक सीमित था। अतः ग्रामीण विकास के मद्देनजर एक ऐसे बैंक की कल्पना की गई जिसकी पहुंच गांवों तक हो तथा ग्रामीण जनता को जिसका लाभ हो सके। इसके फलस्वरूप 1 जुलाई 1955 को स्टेट बैंक आफ़ इंडिया की स्थापना की गई, जिसमे सरकार की हिस्सेदारी 61.58% हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *