One Plus 8 Pro में वायरलेस चार्जिंग कैसे काम करता है?

वायरलेस चार्जर बेसिकली इंडक्टिव चार्जिंग सिस्टम पर काम करता है।

इसका पूरा सिद्धांत इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड पर बेस्ड है।

वायरलेस चार्जर एक गोल डिस्क के आकार का होता है जिसके ऊपर स्मार्टफोन या अन्य डिवाइस रखते ही वो चार्ज होने लगता है।

इस पूरी चार्जिंग प्रोसेस के दो हिस्से होते हैं। पहला हिस्सा जोकि चार्जिंग बेस कहलाता है इसका काम अल्टरनेट करेंट को जनरेट करना है।

यह एक पैड या डिस्क के शेप में होता है, इसके अंदर सर्किट लगा होता है।

आप जब अपने फोन को इसके ऊपर रखते हैं तो यह करेंट को फोन में लगे सर्किट पर ट्रासंफर कर देता है जिससे आपको फोन चार्ज होने लगता है।

ऐसे में आपके फोन और चार्जिंग डिस्क के बीच एक इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड तैयार हो जाती है जो एसी को डीसी (रिसीवर) तक पहुंचाने में मदद करती है।

ठीक उसी प्रकार से सभी मोबाइल में वायरलेस चार्ज होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »