जानिए प्रेगनेंसी में पेट में कीड़े क्यों होते हैं

प्रेगनेंसी में पेट में कीड़े का कारण संक्रमित बिस्तर पर लेटने, कपड़े और अन्य किसी भी चीज की सतह पर छूने या खरोच से फैल सकते हैं। यह पैरासाइट इन जगहों पर तीन हफ्तों तक जीवित रह सकते हैं। इसके कारण थ्रेडवर्म के अंडे सतह के ऊपर फैलने लगते हैं। इनके संपर्क में आने से प्रेगनेंसी में पेट में कीड़े जैसी स्थिति उत्पन्न होती है।

आमतौर पर व्यक्ति अनजाने में इन जीव के संपर्क में आ जाते हैं और मुंह के जरिए उन्हें संक्रमित कर देते हैं। निगले हुए पैरासाइट मल में जाकर अंडों से उसके बच्चे बाहर आ जाते हैं। अंडों से बाहर आने पर कीड़े अपने अंडे देने लगते हैं और इस साइकिल की प्रक्रिया शुरू हो जाती है।

प्रेगनेंसी में पेट में कीड़े होने के कारण एनीमिया (खून की कमी) और पेट में रुकावट का खतरा बढ़ जाता है। यह स्थित कमजोर महिलाओं को और भी गंभीर रूप से प्रभावित कर सकती हैं। इसके अलावा यदि आप पहले कभी एचआईवी या एड्स जैसे संक्रमण से ग्रस्त हो चुके हैं तो प्रेगनेंसी में पेट में कीड़े होने पर अन्य स्वास्थ्य स्थिति उत्पन्न होने की आशंका बढ़ जाती है।

पेट में कीड़े होने का खतरा प्रेग्नेंट महिलाओं में सबसे अधिक होता है। प्रेगनेंसी के दौरान पेट में कीड़े की स्थिति उत्पन्न होने पर डॉक्टर आपको एंटीपैरासिटिक दवाओं के सेवन की सलाह दे सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »