जानिए साइलेंट हार्ट अटैक से बचने के तरीके

साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण हमेशा स्पष्ट नहीं होते। सीने में तेज दर्द, सांस की कमी और ठंडा पसीना आना, यह कुछ लक्षण हैं जो हार्ट अटैक की ओर इशारा करती हैं लेकिन हर बार यह लक्षण नजर नहीं आते। असल में, हार्ट अटैक बिना किसी लक्षण के भी आ सकता है। इसे साइलेंट हार्ट अटैक कहते हैं।

एंग्जाइटी या चेस्ट में भारीपन महसूस होने पर बॉडी चेकअप के लिए जायें। ऐसी स्थिति में कभी-कभी हार्ट में ब्लॉकेज हो सकता है। ब्लॉकेज होने पर परेशान न हों बल्कि ठीक तरह से इसका इलाज करवायें।

अगर आप स्मोकिंग करते हैं, तो स्मोकिंग करना छोड़ दें। इससे सिर्फ साइलेंट हार्ट अटैक का खतरा ही नहीं बल्कि कैंसर जैसी अन्य बीमारियों का भी खतरा बढ़ सकता है। महिला या पुरुषों का स्मोकिंग करना उनके फर्टिलिटी पर नकारात्मक प्रभाव डालता है और लोग इनफर्टिलिटी के शिकार हो जाते हैं।

एल्कोहॉल का सेवन न करें। जरूरत से ज्यादा एल्कोहॉल का सेवन साइलेंट मायोकार्डियल इन्फार्क्शन का खतरा बढ़ा सकता है। अत्यधिक एल्कोहॉल कई सारी शारीरिक परेशानी शुरू कर सकता है।

तनाव से दूर रहने की कोशिश करें। बदलते लाइफस्टाइल में आप तनाव के शिकार हो सकते हैं लेकिन, इससे जितना हो सके बचें क्योंकि तनाव के कारण कई बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ads by Eonads
Translate »