जानिए खून साफ करने के घरेलू उपाय

हमारे शरीर में रक्त परिसंचरण नसों के माध्यम से होता है जो विषाक्त पदार्थों के कारण अशुद्ध भी हो जाता है। विषाक्त पदार्थों के अलावा भारी धातुओं (heavy metals), सूक्ष्म जीवों (microbes) और कई मुक्त कणों (free radicals) से शरीर के लिए खतरा पैदा हो सकता है। खराब जीवन शैली, ख़राब आहार, पर्यावरण में विषाक्त पदार्थ और प्रदूषण आपके खून में अशुद्धियाँ पैदा करते हैं। जब खून अशुद्ध होता है तो विभिन्न शरीर प्रणालियों (body systems) को वो पोषण नहीं दे पाता। जिस कारण कई बीमारियां शरीर पर हमला करती हैं और हमारा स्वास्थ्य ख़राब होता चला जाता है।

ब्लड साफ करने का उपाय है मेथी के पत्ते –
मेथी के पत्तों को बालों और त्वचा के अलावा खून की अशुद्धियों को बाहर निकालने में भी इस्तेमाल किया जाता है।

मेथी के पत्तों का कैसे करें इस्तेमाल –

सबसे पहले ताज़े मेथी के पत्ते, केले के फूल के कुछ पत्ते और काली मिर्च पाउडर के 2 छोटे चम्मच लें।
अब एक बर्तन में दो गिलास पानी डालकर उबालने के लिए रख दें।
अब उबलते हुए पानी में मेथी के पत्ते और केले के फूल के कुछ पत्ते को एक साथ मिलाएं। फिर उसमे काली मिर्च पाउडर के 2 छोटे चम्मच भी डाल दें।
सब कुछ मिलाने के बाद दस मिनट के लिए उसे उबलते रहने दें।
दस मिनट के बाद पानी को उबाल लें और उस मिश्रण को पी लें।
इस प्रक्रिया को तीन हफ्ते या महीने तक दोहराते रहें।
मेथी के पत्ते कैल्शियम, लोहा और पोटेशियम जैसी खनिजों से समृद्ध होते हैं। इसमें विटामिन सी, विटामिन के और फाइबर के भी गुण पाए जाते हैं। केले के फूल के पत्ते फ्लेवोनोइड, विटामिन और प्रोटीन से समृद्ध होते हैं। काली मिर्च में औषधीय गुण होते हैं साथ ही ये एंटीऑक्सिडेंट से समृद्ध होती है। मेथी के पत्ते, केले के फूल के पत्ते और काली मिर्च रक्त को शुद्ध करने में सबसे ज़्यादा फायदेमंद है।

मेथी के पत्तों और केले के फूल के पत्तों से आपको किसी भी तरह का नुकसान नहीं होगा। ये दोनों ही आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी हैं।

खून साफ़ करने का नुस्खा है चौलाई –
खून साफ़ करने के लिए दूसरा नुस्खा है चौलाई। इससे आपका खून साफ़ रहेगा और किसी भी तरह की बीमारी आपको हाथ नहीं लगाएगी।

चौलाई का इस्तेमाल कैसे करें –

सबसे पहले चौलाई के पत्ते और एक ग्राम इलाइची पाउडर लें।
जूस बनाने के लिए मिक्सर में चौलाई के पत्ते डालें।
अब इलाइची के पाउडर को इस मिश्रण में मिला दें।
अब इस मिश्रण को अच्छी तरह मिलाकर पी लें।
हफ्ते में इस मिश्रण का इस्तेमाल एक या दो बार ज़रूर करें।
चौलाई को चीनी पालक भी कहा जाता है। जिसका इस्तेमाल दुनियाभर में किया जाता है। चौलाई विटामिन ए, विटामिन बी 1, बी 2 और विटामिन सी से समृद्ध होती है। इसके साथ ही इसमें कैल्शियम, पोटेशियम और लोहे जैसे कई खनिज पाए जाते हैं। चौलाई में रक्त शुद्ध करने और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के गुण पाए जाते हैं। चौलाई रक्त शुद्ध करने के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपायों में से एक है।

वैसे चौलाई से जुड़े किसी भी प्रकार के नुकसान नहीं हैं लेकिन अगर आप इसे ज़्यादा खाते हैं तो आपको पेट की समस्या या डायरिया हो सकता है।

खून को साफ़ रखने में चुकंदर है फायदेमंद –
ब्लड साफ़ करने के लिए चुकंदर बहुत फायदेमंद है। चुकंदर रक्त शुद्धि ही नहीं खून की कमी को भी दूर करता है।

चुकंदर का इस्तेमाल कैसे करें –

सबसे पहले 2 मध्यम आकार के चुकंदर लें।
अब उन्हें धोएं और छीलकर उन्हें छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें।
अब एक बर्तन में दो गिलास पानी उबालें।
फिर उसमे कटे हुए चुकंदर मिला लें।
दस मिनट के लिए पानी को उबलते रहने दें।
उबलते पानी में ही जीरा और काली मिर्च पाउडर बराबर मात्रा में एक एक चम्मच मिलाएं।
दस मिनट के बाद उबलते पानी को छान लें और गरम गरम पानी को पी लें।
इस मिश्रण को आप तीन हफ्ते तक ज़रूर दोहराएं।
चुकंदर में बीटासायनिन (betacyanin) होता है जो कि एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है जिसमे एंटी -कार्सिनोजेनिक के गुण भी शामिल होते हैं। यह रक्त को शुद्ध करने में मदद करता है। जीरा और काली मिर्च में औषधीय लाभ होते हैं जो रक्त से विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद करते हैं। चुकंदर, जीरा और काली मिर्च रक्त शुद्धि के लिए सर्वश्रेष्ठ घरेलू उपायों में से एक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »