जानिए आंखों में काजल लगाने के फायदे

घर पर बनाया गया काजल विटामिन ई से समृद्ध होता है –
अरंडी तेल से बना आयुर्वेदिक काजल आंखों के लिए बेहद स्वस्थ होता है। अरंडी का तेल विटामिन ई से समृद्ध होता है। यह आंखों की पलकों को घना बनाता है और उन्हें काला भी करता है। घर पर बने काजल से आंखों का तनाव भी कम होता है। यह आंखों की थकान को दूर करता है और उन्हें स्वस्थ रखता है।

घर के काजल में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं –
घर के बने काजल में कॉपर होता है और कॉपर में इलाज करने के गुण मौजूद होते हैं। कॉपर आंखों की अशुद्धियों को साफ करने में भी मदद करता है। कॉपर आंख का संक्रमण और मेकअप से होने इन्फेक्शन को भी दूर करता है। यह आंखों के लेंस और मांसपेशियों को मजबूत करता है व उन्हें आराम पहुंचाता है। इस तरह आपकी आंखों की रोशनी मजबूत होती है।

काजल आंखों की समस्या को ठीक करता है –
पीतल और चांदी का इस्तेमाल आमतौर पर आयुर्वेदिक काजल बनाने के लिए किया जाता है। यह गुण आंखों की समस्या से आराम दिलाते हैं। साथ ही आंखों में होने वाली एलर्जी से भी निजात दिलाते हैं। आंखों को बार-बार मसलने से रक्त वाहिकाओं में सूजन आने लगती है, ऐसे में काजल लगाने से सूजन कम होती है और आंखों के कार्यों में भी सुधार होने लगता है।

काजल लगाने से आंखें ताजा महसूस करती हैं –
घर में बनाए जाने वाले काजल में कपूर सबसे अहम सामग्री है। यह सामग्री आंखों को फ्रेश रखती है और होने वाली थकान से राहत दिलाती है। इसके अलावा यह आंखों को ताजा भी रखती है और उन्हें स्वस्थ बनाए रखने में मदद करती है। कपूर में एस्ट्रीजेंट्स और संक्रमण को मारने के गुण मौजूद होते हैं।

आंखों पर काजल लगाने से काले घेरे कम होते हैं –
आयुर्वेदिक काजल में देसी घी का भी उपयोग किया जाता है। घी आंखों की थकान व स्ट्रेस को कम करता है और इस तरह आपको काले घेरे की समस्या नहीं होती। यह आंखों के ऊपर व निचले क्षेत्र की अशुद्धियों को भी साफ करने में मदद करता है। इस तरह, आयुर्वेदिक काजल आपकी आंखों को संक्रमण से दूर करते हैं और आंखों को साफ रखते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »