जानिए महिलाओं की सेक्स ड्राइव पुरुषों से कैसे है अलग

हिला हो या पुरुष सेक्स सभी की शारीरिक जरूरत है। लेकिन, पुरुषों और महिलाओं की सेक्स ड्राइव में अंतर होता है। आइए, महिलाओं और पुरुष की सेक्स ड्राइव के बारे में भिन्नता जानते हैं।

महिलाएं पुरुषों के मुकाबले सेक्स के बारे में कम सोचती हैं। क्योंकि, अनुमान के मुताबिक पुरुष दिन में कम से कम एक बार सेक्स के बारे में जरूर सोचते हैं। जबकि, सिर्फ एक चौथाई महिलाएं ही पुरुषों की इस फ्रीक्वेंसी को मैच कर पाती हैं।

उम्र के साथ महिला और पुरुषों में सेक्स के बारे में सोचने की फ्रीक्वेंसी में कमी आती है। लेकिन, फिर वह महिलाओं पुरुषों के मुकाबले आधा सेक्स के बारे में सोचती हैं।
किसी भी रिलेशनशिप की शुरुआत में पुरुषों के मुकाबले महिलाएं सेक्स की चाह कम रखती हैं। इसी वजह से महिलाओं के पहली बार सेक्स को लेकर उत्साह से ज्यादा चिंता दिखती है।

महिलाओं के पहली बार सेक्स के दौरान या कभी भी सेक्शुअल टर्न ऑन करने वाले फैक्टर पुरुषों के मुकाबले ज्यादा कॉम्प्लिकेटेड होते हैं।

पुरुषों से अलग महिलाओं की सेक्स ड्राइव सोशल और कल्चरल फैक्टर से प्रभावित होती है।

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ऑर्गेज्म प्राप्त करने में ज्यादा समय लगता है। एक अनुमान के मुताबिक, पुरुषों को औसतन पेनिट्रेशन से स्खलित होने में 4 मिनट का समय लगता है, जबकि महिलाओं को औसतन 10 मिनट तक लग जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *