कैसे शरीर पर हमला करता है कोरोना वायरस?

कोविड- 19 आपके श्वसन तंत्र और रोग प्रतिरोधक तंत्र (Immune System) पर प्रहार करता है और उसे कमजोर बनाता है। इसकी वजह से संक्रमित व्यक्ति को फ्लू जैसे मामूली से लेकर गंभीर लक्षणों का सामना करना पड़ता है। जिसमें, सूखी खांसी, बुखार और सांस लेने में समस्या प्रमुख है।

लेकिन, जारी रिसर्च के मुताबिक कोरोना वायरस के नए लक्षणों के बारे में भी पता लगाया जा रहा है, जिसमें सूंघने की क्षमता कमजोर होना, स्वाद करने की क्षमता कमजोर होना, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, डायरिया आदि की शिकायत भी देखी जा रही है। यह लक्षण पहले से चली आ रही क्रोनिक डिजीज के साथ मिलकर काफी गंभीर और जानलेवा भी हो सकते हैं।

कोरोना से बचाव से पहले हमें इसके फैलने के तरीके के बारे में पता होना चाहिए। कोरोना वायरस आपके इम्यून सिस्टम को कमजोर करने के साथ-साथ रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है और यह उसमें फैल जाता है। अभी तक प्राप्त जानकारी के हिसाब से खांसी या जुकाम जैसे लक्षणों के दौरान निकलने वाले ड्रॉप्लेट्स के माध्यम से यह बाहरी वातावरण में फैलता है।

हालांकि, अब ऐसी आशंका भी जताई जा रही है कि, यह वायरस किसी संक्रमित व्यक्ति में खांसी या जुकाम जैसे लक्षण न दिखने पर भी उसकी सांस के माध्यम से शरीर से बाहर निकलता है। संक्रमित व्यक्ति के शरीर से बाहर निकलने पर यह लगभग 1 मीटर के दायरे में मौजूद स्वस्थ व्यक्ति, सतह या वस्तुओं पर अलग-अलग समय तक जिंदा रह सकता है। कोरोना से बचाव के तरीके न अपनाने पर यह स्वस्थ व्यक्ति अपने संक्रमित हाथों को या कोई अन्य स्वस्थ व्यक्ति अपने हाथों के संक्रमित सतह या वस्तुओं के संपर्क में आने के बाद अपने हाथों को आंख, नाक या मुंह के संपर्क में लाता है, तो यह उसके शरीर में प्रवेश करके उसे भी संक्रमित कर देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »