सगाई में 21 लाख की गाड़ी और 11 लाख नकद ठुकराए, 101 रुपए से किया शगुन वजह जानकर आप हो जाएंगे हैरान

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हमारे समाज में दहेज लेना एक प्रथा है.लोग दहेज में कुछ भी देने को तैयार हो जाते हैं। लेकिन आज मैं आपसे ऐसी शादी के बारे में बताऊंगा जहां लड़के को 21 लाख की गाड़ी और 11 लाख रुपए नगद मिलने पर भी उसने उसे लेने से मना कर दिया और सिर्फ ₹101 का सगुन लेकर सगाई की.

यह घटना अजमेर के शहर में रहने वाले रामसुख गुर्जर के बेटे की शादी को लेकर और जहां उन्होंने लड़की वालों को साफ मना कर दिया दहेज लेने से उन्होंने कहा कि मुझे बेटी के रूप में बहू चाहिए ना कि दहेज उन्होंने शनिवार को अपने बेटे की सगाई मुक्ता नाम की लड़की से की जोकि B.Ed पड़ी हुई है और उनका बेटा इंजीनियर है.

अजमेर के रहने वाले रामसुख गुर्जर के बेटे मयंक का विवाह रविवार को सूरत की मुक्ता से होगा। शनिवार को सगाई का आयोजन था। सगाई में वधु मुक्ता के बिजनेसमैन पिता ने टीका कर 21 लाख की कार व 11 लाख नकद राशि दामाद को दी,

लेकिन रामसुख गुर्जर और दुल्हे ने समाज के सामने कार व नकद राशि यह कहते हुए लौटा दी कि उन्हें बिना दहेज के केवल बहू चाहिए। मयंक ने शगुन के तौर पर मात्र 101 रुपए लिए।

मयंक के पिता ने कहा कि हम बेटा और बेटी में कोई फर्क नहीं करते हमारे लिए दोनों बराबर हैं तो हम अपने घर बेटी नहीं बहू ले जाना चाहते हैं और उनसे हम दहेज कैसे ले सकते हैं हमारी बेटी है यह सब सुनकर वहां खड़े लोगों ने उनके लिए तालियां बजाई और कहा कि ऐसे लोग समाज में हो जाए तो दहेज प्रथा पूरी तरह खत्म हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
Translate »