सिर्फ ₹5 हजार की पूंजी लगाकर शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने कमाएं ₹50 हजार

अगर आप नया बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो यह सबसे बेहतरीन मौका है. देश के प्रमुख रेलवे स्टेशनों , बस डिपो , हवाईअड्डों और मॉल में कुल्हड़ वाली चाय बिकेगी. आप कुल्‍हड़ का बिजनेस शुरू कर सकते हैं. क्‍योंकि, सरकार ने इस योजना पर अमल किया तो आने वाले समय में कुल्‍हड़ की जरूरत बड़ी संख्‍या में पड़ेगी. साथ ही आप कुल्‍हड़ चाय या फिर दूध का बिजनेस भी कर सकते हैं.

सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने रोडवेज समेत रेलवे मिनिस्‍ट्री से कुल्‍हड़ को बढ़ावा देने के लिए प्‍लास्टिक या कागज के कप में चाय बेचने पर पाबंदी लगाने की मांग की है. हालांकि, यह मांग काफी समय है. लेकिन, अब धीरे-धीरे ये खत्म हो रहे हैं और चाय के लिए कुल्हड़ का इस्तेमाल होने लगा है.

सरकार करेगी मदद

पीएम नरेंद्र मोदी ने कुल्‍हड़ के बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए कुम्‍हार सशक्‍तीकरण योजना लागू की है. इसके तहत सरकार कुम्‍हारों को इलेक्ट्रिक चाक देती है ताकि वे इससे कुल्‍हड़ बना सकें. बाद में सरकार उन कुल्‍हड़ों को अच्‍छी कीमत पर खरीद लेती है.

कम लागत मोटा मुनाफा

इस बिजनेस को आप सिर्फ 5000 रुपए में शुरू कर सकते हैं. इसके लिए आपको थोड़े स्‍पेस की जरूरत पड़ेगी. स्‍पेस के लिए प्रॉम्‍पट लोकेशन होना जरूरी नहीं है. खादी ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना के मुताबिक, इस साल सरकार ने 25 हजार इलेक्ट्रिक चाक बांटने का लक्ष्य तय किया है.

कितनी होगी कमाई

चाय के कुल्हड़ की कीमत मिनिमम 50 रुपए सैकड़ा, लस्सी के कुल्हड़ की 150 रुपए सैकड़ा, दूध के कुल्हड़ की 150 रुपए सैकड़ा और प्याली 100 रुपए सैकड़ा चल रही है. डिमांड बढ़ने पर आपको और अच्‍छा रेट मिल सकता है.

कुल्‍हड़ चाय का बिजनेस

कुल्‍हड़ की सप्‍लाई के साथ आप कुल्‍हड़ चाय या फिर दूध का बिजनेस भी कर सकते हैं. यह बिजनेस भी 5 हजार रुपए से शुरू हो सकता है. कुल्‍हड़ चाय की शहरों में कीमत 15 से 20 रुपए है.

दूध का बिजनेस

वहीं, कुल्‍हड़ में 200 मिली लीटर दूध की कीमत 20 से 30 रुपए तक है. 1 लीटर दूध बेचने पर आपको कम से कम 30 रुपए का मुनाफा होगा. अगर 1 दिन में आप 500 लीटर दूध बेच लेते हैं तो एक दिन का मुनाफा 1500 रुपए के आसपास रहेगा. तो महीने में 45000 रुपए से 50 हजार रुपए तक कमाई हो सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »