व्यक्ति का असली मित्र उसका परिवार होता है

माता पिता कभी भी अपने बच्चों का बुरा नहीं चाहते अक्सर— पिता बच्चों को हमेशा डांटते रहते हैं इस की वजह यह है उनके पास जीवन का अनुभव होता है जिस उम्र हम गुजरने वाले हैं– उस उम्र से वह कई साल पहले गुजर चुके हैं उनका यहअनुभव हमारे द्वारा उठाए गए कदमों को रोकता है क्योंकि वह नहीं—– चाहते जिस राह पर हम जा रहे हैं उस राह पर हमें आगे जाकर तकलीफ पड़ेगी इसलिए हमें हमेशा रोकते रहते हैं.

अगर आप अपने पिता की डांट को सही अर्थ में लेंगे आप को– दुनिया की ठोकरें नहीं सहने पढ़ेंगे और अगर आप परिवार को- छोड़ कर किसी और की बातों में आ कर कार्य करेंगे तो पूरी—- संभावना है कोई व्यक्ति किसी अपने स्वार्थ की वजह से आप– का साथ दे रहा हूं जैसे ही उस का स्वार्थ खत्म हो जाएगा वह– अपनी रास्ते पर चल जाएगा ऐसी परिस्थिति में आपकापरिवार आप की सहायता करेगा और हर परिस्थिति में आप के साथ—खड़ा रहेगा.

उसी प्रकार आप पत्नी बच्चे आपकी सहायता के लिए हमेशा–आप के साथ हैं आप की पत्नी आप का घर संभालती है और– आप का पूरा ध्यान रखती है अगर आप उस का सम्मान करेंगेेे-उसकी सलाह से चलेंगे तो आपके जीवन की बहुत परेशानियांं-खत्म हो जाएंगी इसलिए हमेशा अपने परिवार का ध्यान रखें.

परिवार पेड़ की जड़ों की तरह होता है जिस पर फूल और फल के रूप में नए सदस्य आते हैं अगर फूल और फल का रिश्ता— जड़ों सेेे खत्म हो जाता है ऐसी अवस्था में पेड़ के फलऔर फूल सूख जाते हैं इसलिए कभी किसी को इसप्रकार भूल नहींकरनी चाहिए कि वह हमेशा अपने परिवार के सिद्धांत जड़ों से रहना– चाहिए.

जब भी कभी जीवन में परेशानी आती है तो हमेशा आप का— परिवार आप के साथ खड़ा रहता है और कोई आप का साथ— नहीं देता इसलिए हमेशा व्यक्ति को अपने परिवार का ख्याल— रखना चाहिए और कभी भी उन का साथ नहीं छोड़ना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »