मोबाइल SMS के माध्यम से SBI ATM पिन जनरेट कैसे करें, जानिए

Mobile SMS द्वारा  SBI ATM PIN Generate

अगर आप SBI ATM का PIN जनरेट करना चाहते हैं, तो आप इसे मोबाइल से कर सकते हैं, इसके लिए आपका मोबाइल नंबर बैंक खाते से जुड़ा होना चाहिए।

अगर आपका मोबाइल नंबर बैंक खाते से लिंक नहीं है तो आपके मोबाइल में OTP नहीं आएगा और OTP के बिना आपका पिन जेनरेट नहीं होगा। इसलिए, आपको मोबाइल नंबर को बैंक खाते से लिंक करना होगा।

आपके बैंक खाते में जो नंबर जुड़ा हुआ है, उस सिम में कम से कम 3 रुपये का बैलेंस होना चाहिए क्योंकि आप बिना बैलेंस के SMS नहीं भेज पाएंगे।

इसलिए यदि आपका मोबाइल नंबर बैंक खाते से जुड़ा हुआ है और आपके सिम में तीन रुपये से अधिक बैलेंस है, तो आप नीचे दिए गए चरणों का पालन करके एटीएम पिन बना सकते हैं।

दोस्तों मोबाइल के जरिये SMS भेजकर SBI का ATM PIN जनरेट करने का यह सबसे आसान तरीका है। दोस्तों, इसमें हमें बैंक खाते से जुड़े मोबाइल नंबर से एक SMS भेजना होता है और ATM PIN तुरंत उसी नंबर पर आ जाता है।

Mobile SMS द्वारा  SBI ATM PIN कैसे बदले ?

Step 1:- सबसे पहले आपको अपने मोबाइल के message बॉक्स में जाना है और new message पर क्लिक करना होगा |

Step 2:- अब आपको message में अंग्रेजी के बड़े अक्षरों में लिखना है PIN फिर एक स्पेस दे कर एटीएम कार्ड के  आखिरी 4

अंकों को लिखना है और फिर एक स्पेस देकर बैंक अकाउंट के आखिरी 4 अंकों को लिखना है | आप उदहारण के लिए

निचे देख सकते है |

उदाहरण:- PIN – XXXX – AAAA

जहाँ XXXX आपके ATM CARD के लास्ट के चार नंबर है और AAAA आपके बैंक खाता नंबर के लास्ट के चार नंबर है |

मान लीजिए आपके ATM CARD के लास्ट चार अंक 1234 है और आपके बैंक खाते के लास्ट चार अंक 7890 है तो आपको अपने message बॉक्स में लिखना है जैसे :- PIN 1234 7890

Step 3:- अब आप को अपने message(PIN 1234 7890) को 567676 पर भेज देना है |Message भेजने के कुछ ही समय में

आपके Register मोबाइल पर SMS के माध्यम से चार अंकों का पिन भेजा जाएगा जो कि आपके ATM का पिन होता है।

NOTE:-

यह एटीएम पिन केवल 24 घंटे के लिए वैध है, इसलिए आपको किसी भी नजदीकी SBI ATM मशीन पर जाना होगा और इस पिन को बदलना होगा।बदले गए पिन हमेशा के लिये मान्य होती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »