मुर्गियों की ऐसी बीमारियां जो इंसानों के लिए घातक साबित होती हैं, जरूर पढ़े

इंसानों की तरह ही अन्य जानवरों को भी बीमारियों से जूझना पड़ता है। कुछ बीमारियां तो प्राण घातक भी साबित होती हैं। मुर्गियों में भी कई तरह की बीमारियां होती हैं और इनमें से कुछ इंसानों को तक नुकसान पहुंचा देती हैं।

मुर्गी पालन करने वाले किसानों के लिए इनकी रोकथाम बेहद जरूरी है क्योंकि अगर ऐसा नहीं किया जाता तो बहुत ही भारी आर्थिक नुकसान उन्हें उठाना पड़ता है।

1) बर्ड फ्लू :-इस बीमारी का नाम अधिकतर लोगों ने सुना होगा। यह बीमारी अगर मुर्गियों को हो जाए तो आसानी से इंसानों में भी फैल जाती है। और इस बीमारी के फैलाव के कारण इसे महामारी का दर्जा भी दिया गया है।

यह बीमारी मुर्गियों को तो नष्ट कर ही देती है और यदि इंसान इनसे संक्रमित हो जाए तो इंसान की जान भी जा सकती है। मुर्गियों का मांस खाने पर भी यह बीमारी हो जाती है। क्या बीमारी वायरस से फैलती है इसी कारण ज्यादा प्राण घातक साबित होती है।

2) रानीखेत :-मुर्गियों के लिए यह बीमारी सबसे ज्यादा खतरनाक मानी जाती है और यह बीमारी का कोई इलाज भी नहीं है केवल इसकी रोकथाम ही की जा सकती है। इस रोग की मृत्यु दर 95 से 100% तक होती है और मुर्गियों की 3 से 4 दन में मृत्यु हो जाती है।

3) चेचक :-चेचक जिसे चिकन पॉक्स के नाम से भी जाना जाता है यह बीमारी भी काफी ज्यादा परेशान करने वाली होती है। यह बीमारी में मुर्गियों पर बड़े-बड़े चकत्ते और दाने उभर आते हैं जो मुर्गियों के लिए काफी घातक होते हैं।

4) हैजा : ये बीमारी इंसानों के साथ साथ मुर्गियों के लिए भी काफी नुकसानदायक होती है। इस बीमारी में भी अधिकतर मुर्गियों की मृत्यु हो जाती है। यह बीमारी ज्यादा घातक इसलिए है क्योंकि यह एक से दूसरे में फैलती जाती है।

5) मेरेक्स :-इस बीमारी को मुर्गियों का कैंसर कहा जाता है और यह बीमारी छोटे चुजों में ज्यादा फैलती है जिसमें पैरों में लकवा मार जाता है।

6) सफेद दस्त :-छोटे चूज़ों मैं यह बीमारी ज्यादा होती है और इसमें मृत्यु दर 100% तक पहुंच जाती है। इस बीमारी में चूज़ों को इतने दस्त लगते हैं जिससे उनकी मृत्यु हो जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »