बेरोजगारी के कारण युवक ने ट्रेन से कटकर दी जान, सुसाइड नोट में बयां किया दर्द

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के मैगलगंज कस्बे में लॉकडाउन में बेरोजगार हुए युवक भानू प्रताप गुप्ता ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली। मृतक की जेब से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें उसने अपनी गरीबी और बेरोजगारी का जिक्र करते हुए गरीब जीवन की अनकही कहानी व दर्द बयां किया है।

सुसाइड नोट में युवक ने कहा कि हम इतनी गरीबी झेल रहे हैं कि मेरे मरने के बाद मेरे अंतिम संस्कार भर का भी पैसा मेरे परिवार के पास नहीं है। भानु गुप्ता ने अपने सुसाइड नोट में भी लिखा है कि सरकार की तरफ से उन्हें राशन मिल रहा था।

लेकिन बाकी सामान खरीदने के लिए दुकानदार ने उधार देने से मना कर दिया था। मुझे खांसी, सांस जोड़ों का दर्द, दौरा और अत्यधिक कमजोरी, चलना दूभर, चक्कर आदि हैं। मेरी विधवा मां भी दो साल से खांसी बुखार से पीड़ित हैं।

तड़प-तड़प कर जी रहे हैं। लॉकडाउन बराबर बढ़ता जा रहा है। नौकरी कहीं मिल नहीं रही है, जो काम हो की खर्चा चलाएं व इलाज कराएं। हमें न कोई शासन का सहयोग मिला।” सुसाइड नोट का बाकी हिस्सा नहीं मिला।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »