दुनिया में मौजूद यह विचित्र पेड़ जिससे घी निकलता है

दुनिया अनेक आश्चर्य से भरी पड़ी है। इनमें से एक आश्चर्यचकित कर देने वाला पेड़ भी मौजूद है जिसमें से ही निकलता है। भारत व नेपाल के इलाकों में एक विचित्र पेड़ पाया जाता है जिससे वहां के लोग भी निकालते हैं और उसका प्रयोग भी करते हैं।

इस भी के पेड़ों को देखकर एक अंग्रेज इतना प्रभावित हुआ कि उसने इसका नाम घी का पेड़ यानी ‘इंडियन बटर ट्री’ रख दिया। इस पेड़ के बीजों से भी निकलता है और वह काफी मात्रा में होता है। इसे स्थानीय लोग ‘च्युरा’ कहते हैं। इस पेड़ से लकड़ी, फल, घी, गुड, शहद, औषधि, जानवरों के लिए चारा एवं कीटनाशक आदि प्राप्त हो जाते हैं। इतने सारे फायदे होने के कारण इसे वहां के लोग बहुत ही पूजनीय मानते हैं।

घी का पेड़ काफी बड़ा होता है जिसके नीचे बैठकर स्थानीय लोग गर्मी से बचाव करते हैं इस के फलने फूलन का समय अक्टूबर से फरवरी तक होता है और जुलाई-अगस्त में इसके फल आते हैं। इस के पके हुए फल मीठे तथा सुगंधित होते हैं और ग्रामीण लोग इसे खाकर बीजों को इकट्ठा कर लेते हैं।

घी निकालने के लिए बीजों के ऊपर छिलके को हटा दिया जाता है फिर उसको धूप में सुखाकर पीस लिया जाता है। इसे हुए पदार्थ को गर्म किया जाता है जो ठंडा होने पर भी की तरह ऊपरी सतह पर तैरने लगता है और ऐसे ही भारतीय जी कहते हैं।इस प्रकार एक पेड़ से 1 वर्ष में 60 से 90 किलो घी मिल जाता है।

वहां के लोग इस घी का इस्तेमाल खाने में, रोशनी में, औषधि में करते हैं।जी से निकलने के बाद जो पदार्थ बचता है उसे वह कीड़ों को मारने के लिए काम में ले लेते हैं। इस पेड़ के रस से गुड़ भी बनाया जाता है। इसी कारण यह वृक्ष वहां के लोगों के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »