दुनिया का सबसे बड़ा भूतिया आश्रम कहाँ है, जहां हजारों भूतों का बसेरा है? जानिए सच

आज हम जानेंगे दुनिया के सबसे बड़े भूतिया आश्रम के बारे में , जहां है हजारों भूतों का बसेरा !

इस युग में भले ही भूत – प्रेत और आत्मा ( Ghost and spirit ) जैसी बातों पर यकीन नहीं होता है , लेकिन दुनिया में ऐसी कई Paranormal activities होती हैं जिनसे पूरी तरह से इनकार नहीं किया जा सकता । कई बार आपके आसपास भी ऐसी जगहें होती हैं , जिनके बारे में ऐसी बातें की जाती हैं ।

आज हम आपकों ऐसी ही एक जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहां माना जाता है कि हजारों की संख्या में भूत रहते हैं । ये जगह United Kingdom के Wales शहर में स्तिथ है । इस जगह का नाम वैसे तो Denbigh Asylum है लेकिन लोग इसे भूतों का आश्रम कहते हैं ।

Denbigh Asylum साल 1848 में मनोरोग से पीड़ित लोगों के लिए बनाया गया था , और 1995 में इसके दरवाजे बंद करने से पहले 1,500 रोगियों और 1,000 कर्मचारियों के लिए घर था । बताया जाता है कि यहां कई मरीजों की मौत के बाद इसे बंद कर दिया किया । 25 साल से बंद पड़े इस आश्रम से लोगों को कई डरावना दृश्य देखने को मिले हैं , जिसमें लोगों को चीखना , हँसी , नक्शेकदम और तेज़ धमाके की आवाज़ भी सुनाई देती रही है ।

इतना ही नहीं कुछ सालों पहले Denbigh Asylum की इमारत में अचानक आग भी लग गई थी लेकिन आग कैसे लगी इसका पता नहीं चल सका । साल 2008 में , टीवी शो मोस्ट हॉन्टेड के जांचकर्ताओं ने खुद इस जगह का दौरा किया था । इसके बाद उन्होंने इसे दावा किया कि यह स्थान ” चुडैलों द्वारा शापित है । ” उनका कहना था कि यहां हजारों की संख्या में भूत रहते हैं ।

नक्शेकदम और तेज़ धमाके की आवाज़ भी सुनाई देती रही है । इतना ही नहीं कुछ सालों पहले Denbigh Asylum की इमारत में अचानक आग भी लग गई थी लेकिन आग कैसे लगी इसका पता नहीं चल सका । साल 2008 में , टीवी शो मोस्ट हॉन्टेड के जांचकर्ताओं ने खुद इस जगह का दौरा किया था ।

इसके बाद उन्होंने इसे दावा किया कि यह स्थान ” चुडैलों द्वारा शापित है । ” उनका कहना था कि यहां हजारों की संख्या में भूत रहते हैं । लेकिन अब इतने सालों बाद एक बार फिर से इस इमारत के काया पलट की बात हो रही है ।

वर्तमान में यह डेवलपर जोन्स ब्रॉस द्वारा £ 75m नवीकरण योजना के तहत चल रहा है , जिसमें दुकानों , एक जिम और रेस्तरां के साथ साइट को एक आवास परिसर में बदलने की योजना है ।

नोट – हमारा उद्देश्य किसी भी धर्म, जाति या सम्पदा को ठेस पहुंचाना तथा अंधविश्वास को बढ़ावा देना नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
Translate »