ताश में 52 पत्ते ही क्यों होते है कम या ज्यादा क्यों नहीं?

इसका उत्तर कुछ इस प्रकार की गणनाओं पर आधारित है, ये एक ताश की हाथ की सफाई वाली किताब में ताश के इतिहास विषय में लिखा था अतः मुझे आपको वही बताना उचित लगा।
1 साल के अंदर 52 सप्ताह होते हैं और 4 ऋतुएं होती हैं प्रत्येक ऋतु के 3 माह माने जाते हैं।
इसी आधार पर ताश के 52 पत्ते 52 सप्ताह का प्रतिनिधित्व करते हैं।
3 बड़े कार्ड Jack Queen King=3 3 माह हर ऋतु के
4 सूट्स: चिड़ी (♣), ईंट (♦), पान (♥) और हुकुम (♠) = 4 ऋतु (गर्मी, पतझड़, वसंत, सर्दी)
प्रत्येक सूट में 13 कार्ड्स = हिंदू पंचांग के अनुसार 13वां दिन त्रयोदशी का होता है ये दिन देवाधिदेव भगवान शिव को समर्पित है,इसी दिन महाशिवरात्रि भी होती है, प्रदोष का व्रत भी इस दिन रखा जाता है।
गड्डी में 52 कार्ड = साल में 52 सप्ताह (364/7)
जब हम गड्डी के प्रत्येक कार्ड पर अंकित चिह्नों का योग करते हैं तो हमें 364 का आंकड़ा प्राप्त होता है।
परंतु जब हम इनके साथ जोकर के 1.25 के मान को जोड़ते हैं तो हमें सभी चिह्नों का योग 365.25 के बराबर मिलता है।
जो वास्तव में हमारे कैलेंडर में एक वर्ष के दिनों की संख्या होती है।
इतना ही नहीं, इसमें एक से दस तक के कार्डों पर अंकित नंबर भी किसी ना किसी संकेत का प्रतिनिधित्व करते हैं जिसकी सूची निम्नवत है:
इक्का = इच्छा
दुक्की = एकता
तिक्की = विश्वास
चौका = संतुष्टि
पंजा = बदलाव
छग्गी = समन्वय
सत्ता = विजय
अट्ठा = शक्ति
नहला = नई शुरुआत
दहला = सफलता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »