जय भारत के सबसे अमीर 3 मंदिर हैं जहां प्रतिवर्ष लगती है लाखों करोड़ों भक्तों के भीड़

भारतवर्ष में कई सारे बहुत पुराने मंदिर स्थित है। जिनको पुराने राजा महाराजाओं ने बनाया था। इन स्थानों पर देश विदेश से लाखों-करोड़ों लोग आते हैं और भगवान के प्रति अपनी आस्था को प्रकट करते हैं।

इन स्थानों पर वक्त अपनी मन्नत मांगते हैं और मन्नत पूरी होने पर दान भी करते हैं। आज हम भारत वर्ष के तीन मंदिरों के बारे में बताएंगे। जिनके पास काफी सारी संपत्ति है। यह भारत के सबसे अमीर मंदिर है।

पद्मनाभ स्वामी मंदिर

पदमनाभास्वामी मंदिर देश का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। भारत के केरल राज्य के प्रसिद्ध स्थानों में इस मंदिर को माना जाता है। इस मंदिर को विश्व के प्रसिद्ध वैष्णो मंदिर में माना जाता है। इस मंदिर में मुख्यता विष्णु भगवान की प्रतिमा स्थित है। इस मंदिर मैं देश विदेश से लाखों करोड़ों दर्शनार्थी भगवान विष्णु के दर्शनों का आनंद उठाते हैं।

यह मंदिर भगवान विष्णु के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। मेरा मानना है कि यदि जीवन में कभी भी आपको इस मंदिर में पूजा अर्चना करने का सौभाग्य मिले तो इस मंदिर में अवश्य जाना चाहिए। भगवान विष्णु के दर्शन करेंके अपने जीवन को सफल बनाना चाहिए।

आपको अपने जीवन के समस्त दुखों और कष्टों से छुटकारा मिल जाएगा। यह मंदिर विश्व के सबसे अमीर मंदिरों में से एक है। इस मंदिर के पास करीब डेढ़ लाख करोड़ की धन संपत्ति है।

तिरुपति बालाजी मंदिर

यदि भारत के दूसरे सबसे अमीर मंदिर की बात करें तो वह आंध्र प्रदेश में स्थित तिरुपति बालाजी का मंदिर है। एक अनुमान के मुताबिक इस मंदिर को प्रतिभा से करीब करीब 700 करोड़ रुपए का दान मिलता है। इस मंदिर में भी विश्व भर से लाखों लोग भारत की कला संस्कृति को देखने के लिए आते हैं।

इस मंदिर में के वैभव को देखने के लिए भारत के साथ-साथ विश्व भर से लाखों-करोड़ों भक्त भगवान तिरुपति बालाजी के दर्शन के लिए आते हैं। लोग अपने परिवार की सुख और समृद्धि के लिए भगवान तिरुपति बालाजी से प्रार्थना करते हैं। भगवान तिरुपति बालाजी भी भक्तों को कभी निराश नहीं करते हैं। भगवान तिरुपति बालाजी अपने भक्तों को मनवांछित फल देते हैं। हर हिंदू धर्म के अनुयाई का जीवन में कम से कम एक बार इस मंदिर में जाने का सपना होता है। इस मंदिर में जाकर भगवान तिरुपति बालाजी के दर्शन प्राप्त करके अपने जीवन को सफल बनाना चाहिए।

वैष्णो देवी मंदिर

हमारे बुजुर्ग कहते हैं मां ममतामई और करुणामई होती है। मां की ममता और करुणा का अनुभव करने के लिए प्रतिवर्ष हजारों लोग माता वैष्णो देवी के मंदिर में जाते हैं। यह भारत के लोग जम्मू राज्य में स्थित है। इसके कारण यहां माता वैष्णो देवी के दर्शन के साथ साथ लोग यहां की पहाड़ियों के मनभावन दृश्य देखकर भक्ति के साथ-साथ अध्यात्म का अनुभव करते हैं।

इस मंदिर में भी लाखों भक्त जाते हैं और माता वैष्णो देवी से अपनी मन्नतें मांगते हैं। माता भी एक महान मां की तरह अपने सारे भक्तों के सारे कष्टों का हरण करती है। यह मंदिर भी भारत के सबसे अमीर मंदिरों में से एक है। एक अनुमान के मुताबिक इस मंदिर में प्रतिवर्ष करीब 500 से 600 करोड़ के बीच में चढ़ावा चढ़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »