घर के यह 3 प्रमुख वजह लाते हैं कलह

घर को हम स्वर्ग कहते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि घर को स्वर्ग से नर्क बनने में ज्यादा देर नहीं लगगी और इसका कारण कहीं ना कहीं हम ही होते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन सत्य यही है कि वह तीन खास चीज़ें है जो घर में सुख पैदा करती हैं और वही तीन चीज़ें घर में दुख का भी कारण बनती हैं।

घर की कलह के प्रमुख 3 वजह क्या है –
दोस्तों हमारे घर की प्रमुख वह 3 वजह जो सुख और दुख दोनों की वजह हैं वह है – घर का रंग, घर की तरंग और घर में रहने वाले लोग। बता दें कि इन तीनों में से दो चीज़ें भी अगर घर में ठीक हों, तो आपके घर में सुख व शांति हमेशा बनी रहेगी और वहीं, इनमें से कोई दो चीज़ें भी घर में मौजूद ना हो, तो आपके घर में वाद विवाद, बीमारियां और कलह क्लेश हमेशा अपना घर बनाकर आपके साथ रहेगी।

जहां, कभी-कभी हम घर में कुछ ऐसी चीज़ें ले आते हैं जो घर में कलह बढ़ा देती है, तो वहीं, कुछ लोगों के आने पर भी घर में क्लेश तेज़ी से बढ़ जाता है।

घर के रंग को कैसे रखें ठीक
• कोशिश करें कि आप अपने घर में ज्यादातर हल्के और खूबसूरत रंगों का ही प्रयोग करें।

• घर में घुसते ही पहला कमरा लिविंग एरिया को माना जाता है, इसलिए इसमें हलके पीले, गुलाबी या हरे रंग का ही प्रयोग करें।

• वहीं, रसोई घर जिसे घर का सबसे अहम हिस्सा माना जाता है। यह वह स्थान होता है जहां से आप घर के सभी सदस्यों को जोड़कर रखते हैं। ध्यान रहे कि रसोई घर में नारंगी रंग सबसे ज्यादा शुभ माना जाता है इसलिए इसी खास रंग का प्रयोग करें।

• अब बात बेड रूम की करें, तो याद से अपने बेड रूम में गुलाबी, बैगनी या फिर हरे रंग के हलके शेड्स का आप प्रयोग करें। ऐसा करने से आपके व आपके पार्टनर के बीच प्यार हमेशा बना रहेगा और आप एक खुशहाल ज़िंदगी जीएंगे।

• ध्यान रहे कि आपके घर के छत का रंग हर हाल में सफ़ेद ही होना चाहिए, क्योंकि तभी आपको शुभ फल की प्राप्ति हो सकेगी।

• नीला या फिर नीले रंग के शेड्स का कम से कम ही प्रयोग करने की कोशिश करें, क्योंकि यह घर के वास्तु के हिसाब से सही नहीं माना जाता।

घर की तरंग को कैसे रखें ठीक
घर की तरंग को कैसे रखें ठीक
• क्या आप जानते हैं कि घर के सामानों से और लोगों से तरंगों का निर्माण होता है।

• याद से घर में उन चीज़ों को बाहर निकाल दें जो आपके लिए अनुपयोगी है और फालतु का घर में जगह घेरे हुए हैं।

• घर में प्रकाश और हवा का सही आवागमन रखना बहुत आवश्यक माना जाता है।

• यही नहीं, घर में बासी खाना या फिर अनुपयोगी जूते चप्पल रखना भी तरंगों को ख़राब कर देने में सक्षम माना जाता है।

• साथ ही तेज ध्वनि का संगीत, चीखना या चिल्लाना और अस्त व व्यस्तता से भी घर की तरंगें ख़राब हो जाती हैं।

• अपने घर में सुबह और शाम को पूजा उपासना करें, सुगंध से और मन्त्र जप आदि से भी आप घर की तरंगें बेहतर कर सकते हैं।

• अमावस्या के खास दिन अपने घर की साफ-सफाई अच्छे से जरूर करें। ऐसा करने से आपको शुभ फल की प्राप्ति होगी।

• सप्ताह में एक दिन याद से घर में संयुक्त पूजा उपासना भी ज़रूर करें।

घर के लोगों को क्या ध्यान देना ज़रूरी
• याद रहे कि घर के लोगों का व्यवहार और स्वभाव सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि घर के लोगों से तरंगें भी बनती हैं और भाग्य भी।

• घर के जितने भी सदस्य हैं उनके आपस में व्यवहार ठीक रखना चाहिए।

• कोशिश करें कि अपशब्दों का प्रयोग बिल्कुल भी ना करें और आलस्य को त्याग दें।

• घर में भूलकर भी मदिरापान का सेवन ना करें और ना ही कभी जुआ खेलें।

• घर के सामानों को व्यवस्थित रखने का भी प्रयास अवश्य करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »