क्या आप जानते है कि महाभारत में भीम गदा के अलावा और कौनसा शस्त्र चलाने में निपुण थे?

भीम वायु के पुत्र थे। पवनसुत की ताकत कितनी होती है यह तो आपको भगवान हनुमान से ही पता चल गया होगा। भीम के पास दस हजार हाथी का बल था। बलराम के मुताबिक ऐसा कोई इंसान नहीं जो भीम से ज्यादा ताकतवर हो।

भीम ने वर्नाब्रत के लाक्षागृह में आग लग जाने के बाद माता कुंती और भाइयों की रक्षा की थी।
उन्होंने अज्ञात वास के समय विराट राज्य के सेनापति कीचक का भी वध किया था।
घोसयात्रा के दौरान जब कर्ण गंधर्वो का सामना ना करके भाग गया और दुर्योधन बंदी हुआ था तब भीम ने अर्जुन के साथ मिल कर गंधर्वो की सेना को परास्त किया था।
वह एक गदाधारी थे। गदायुद्ध में उन्होंने महारत हासिल की थी। गदायुद्ध में उन्होंने दुशासन को परास्त किया था। उनकी गदा की प्रहार से कुरुक्षेत्र युद्ध में बहुत योद्धाओं को यमलोक की प्राप्ति हुई। पुरे १०० कौरवों का वध उन्होंने ही किया था।

इसके अतिरिक्त भीम एक मल्ल योद्धा भी थे।

भीम ने मल्ल युद्ध में जरासंध को बहुत बार पराजित किया और उसका वध भी किये थे।

सबसे रोचक बात जो आपने कभी टीवी सीरियल्स में नहीं देखी होगी कि भीम एक अच्छे धनुर्धारी भी थे।

युधिस्टिर के राजसूय यज्ञ के लिए भीम पूर्ब दिशा में स्थित सारे राज्यो पर विजय हासिल की थी। अंग के राजा कर्ण को भी भीम ने उस दौरान परास्त किया था।

कुरुक्षेत्र युद्ध में उन्होंने महामहिम भीष्म को भी परास्त किया था।

यहाँ तक की भीम ने कुरुक्षेत्र युद्ध में अंगराज कर्ण को धनुर्युद्ध में परास्त किया था। भीम के बाण के प्रहार से राधेय कर्ण अचेत हो कर अपने रथ पर ही गिर गए थे। अंगराज कर्ण की हार से कौरवः की सेना, दुर्योधन तथा सम्राट धृतराष्ट्र भी चिंता में पड़ गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »