कंगाली से कैसे पाए छुटकारा, जानें 4 टिप्स यहां

हर कोई अपने जीवन में सफल होने के लिए मेहनत ज़रूर करता है और फिर पैसे कमाकर अपनी ज़िंदगी खुशी से व्यतित भी करता। बहुत से लोग मेहनत तो ज़रूर करते हैं, लेकिन फिर भी धन संबंधी परेशानियों से हमेशा घिरे रहते हैं। बता दें कि इसा एक प्रमुख कारण आपके खुद के घर में मौजूद वास्तुदोष भी हो सकता है।

वास्तुशास्त्र में कुछ ऐसी चीजें बताई गई हैं जिसकी मदद से आप धन एवं सुख में बाधक आ रही तत्वों का प्रभाव आप दूर कर सकते हैं और मां लक्ष्मी की कृपा आपके व पूरे परिवार पर हमेशा बनी रहती है।

आज वेद संसार आपको 4 चीज़ों के बारे में बताने जा रहा है जिसकी मदद से आप अपनी कंगाली से छुटकारा पा सकते हैं –

• बांसुरी –

अगर आप अपने वास्तु दोष को सच में दूर करना चाहते हैं, तो बता दें कि इसके लिए बांसुरी को बहुत ही कारगर माना गया है। घर में आर्थिक समस्याओं की मुसिबतें बुरी तरह घेरे हुए हैं, तो इससे मुक्ति पाने के लिए व्यक्ति को चांदी की बांसुरी घर में ज़रूर रखनी चाहिए। वास्तुशास्त्र की मानें तो बांसुरी घर में रखने से मां लक्ष्मी का वास हमेशा घर में बना रहता है। जान लें कि इससे भी वास्तु दोष दूर होता है और धन आगमन के स्रोत बनने लग जाते हैं। वहीं, शिक्षा, व्यवसाय या नौकरी में बाधा आने पर शयन कक्ष के दरवाजे पर दो बांसुरियों को लगाना भी बहुत शुभ फलदायी माना गया है।

• नृत्य करती हुई गणेश जी की मूर्ति –

भगवान गणेश जी को विघ्नहर्ता भी लोग कहते हैं। अपने घर से धन और सुख में आ रही बाधा को दूर करने के लिए नृत्य करती हुई भगवान गणेश जी की प्रतिमा घर में रखना बहुत ही शुभ माना जाता है। बता दें कि भगवान गणेश जी की नृत्य करती हुई प्रतिमा को घर में इस तरह रखना चाहिए कि घर के मुख्य द्वार पर गणेश जी की दृष्टि रहे।

• मां लक्ष्मी के साथ घर में कुबेर की मूर्ति –

हर कोई अपने घर में मां लक्ष्मी की तस्वीर या मूर्ति ज़रूर रखता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि घर में मां लक्ष्मी के साथ कुबेर की भी मूर्ति याद से रखें। यह तो हम सभी जानते हैं कि आय कुबेर महाराज प्रदान करते हैं और इसी कारण दोनों एक दूसरे के पूरक भी माने जाते हैं। ध्यान रहे कि कुबेर महाराज उत्तर दिशा के स्वामी कहलाते हैं, इसलिए इन्हें हमेशा उत्तर दिशा में ही रखना चाहिए।

• शंख –

वास्तु की मानें तो एकमात्र शंख में वास्तु दोष दूर करने की अद्भुत क्षमता होती है। जान लें कि जहां नियमित शंख का घोष होता वहां के आस-पास की हवा भी शुद्घ और सकारात्मक हो जाती है। वहीं, दूसरी ओर शास्त्रों की मानें तो जिन घरों में देवी लक्ष्मी के हाथों में शोभा पाने वाला दक्षिणवर्ती शंख होता है, वहां मां लक्ष्मी खुद आकर निवास करती हैं। बता दें कि ऐसे घर में धन संबंधी परेशानी कभी नहीं निवास करती है। बता दें कि शंख को लाल कपड़े में लपेटकर ही पूजा स्थान में रखना चाहिए और नियमित रूप से इसकी पूजा भी करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »