ऐसे खिलाड़ी जिन्होने आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर टीम को जीत दिलाई, इसमें एक भारतीय भी है

क्रिकेट अनिश्चितता का खेल है इसमें कोई नहीं जानता कि अगले पल में क्या से क्या हो जाएगा। क्रिकेट की जगत में ऐसे ही खिलाड़ी हुए हैं जिन्होंने अंतिम गेंद पर मैच का रुख बदल दिया और अपनी टीम को जीत दिला दी। आज हम आपके लिए कुछ ऐसे ही खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने अंतिम गेंद पर पूरे मैच का रुख बदल दिया।

जावेद मियांदाद

जावेद मियांदाद ने सन 1986 में आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर अपनी टीम को जीत दिला दी थी यह मैच शारजाह में ऑस्ट्रेलिया कप के फाइनल में खेला गया था। तथा यह छक्का उन्होंने भारतीय खिलाड़ी चेतन शर्मा की बॉल पर लगाया था।
लांस क्लूजनर

ऐसा ही एक वाक्य सन 1999 के मैच में देखा गया था। यह मैच न्यूजीलैंड के विरुद्ध हुआ था जो कि नेपियर में खेला गया था। इसमें आखिरी गेंद पर छक्का मार कर टीम को जीत दिला दी थी।
ब्रेंडन टेलर

यह मैच बांग्लादेश के खिलाफ खेला गया था ब्रेंडन टेलर जिंबाब्वे के पूर्व कप्तान रह चुके हैं और इन्होंने यह मैच जिता दिया था इस मैच में आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर उन्होंने मैच को अपने पक्ष में मोड़ लिया था।
शिवनारायण चंद्रपॉल

यह मैच सन 2008 में खेला गया था और इसमें शिवनारायण चंद्रपाल ने आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर मैच को जीता दिया था। वह ऐसा कारनामा पहले भी कर चुके थे परंतु उसमें उन्होंने आखिरी गेंद पर चौका लगाया था।
रेयान मैक्लॉरेन

उन्होंने न्यूजीलैंड के विरुद्ध सन 2013 के एक मैच में आखिरी गेंद पर छक्का जड़कर मैच को जीता दिया था। रेयान मैक्लॉरेन साउथ अफ्रीका के खिलाड़ी हैं।
दिनेश कार्तिक

अब बात करते हैं अपने भारतीय बल्लेबाज की उनका नाम दिनेश कार्तिक है और उन्होंने श्रीलंका के विरुद्ध निदहास ट्रॉफी के फाइनल मैच में आखिरी गेंद पर छक्का जड़कर मैच को जीता दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »