एकाकक्षी नारियल क्या होता है?

आम तौर पर किसी भी नारियल में मौजूद जटाओं को हटाने पर उसमें तीन छिद्र नजर आते हैं। इन छिद्रों को नारियल की दो आंखें और एक मुंह माना जाता है। लेकिन एकाक्षी नारियल कुछ अलग होता है और इसमें तीन की बजाय सिर्फ दो छिद्र होते हैं।

इनमें से एक को उसकी आंख और दूसरे को मुंह माना जाता है। इसे ही कहते हैं एकाक्षी या एक आंख वाला नारियल। एकाक्षी नारियल में तीन के स्थान पर केवल दो रेखाएं ही होती हैं।

यह नारियल आसानी से नहीं मिलता। हजारों में कोई एक नारियल एकाक्षी होता है। जिसके घर में एकाक्षी नारियल होता है, वहां देवी लक्ष्मी स्वयं निवास करती हैं अर्थात वहां धन और सुख-संपत्ति की कोई कमी नहीं होती।

मान्यता है की इसमें धन आकर्षण की अद्भुत क्षमता होती है।एकाक्षी नारियल प्राप्त होने पर विशेष मुहूर्तों जैसे दीपावली, होली, रवि-पुष्य, गुरु-पुष्य, ग्रहण काल आदि पर षोडषोपचार पूजा करने के बाद सही स्थान पर रखने से घर में लक्ष्मी का आगमन होने लगता है।

एकाक्षी नारियल में काफी दिव्य शक्ति होती है जिसकी वजह से घर पर कभी भी किसी बुरी आत्मा का प्रवेश नहीं होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »