ईमेल भेजते समय CC और BCC में क्या अंतर होता है?

ईमेल भेजते समय जब आप जिस किसी भी व्यक्ति को ईमेल सेंड करते हैं तब आप जिसको ईमेल सेंड करते हैं तब वहां पर तीन तरह का ऑप्शन दिखाई देता है।जो कुछ इस प्रकार दिखता है।👇

यहां आपको तीन तरह का ऑप्शन मिलता है To, CC और BCC । अब प्रश्न आता है कि भैया इसका मतलब होता क्या है?

इस कंटेंट का क्रेडिट जाता है 👇👇👇

ईमेल में CC और BCC का क्या उपयोग होता है? [ What is the use of CC and BCC in e-mail ]

इसे समझने के लिए हमें तीनों के अर्थों के बारे में चर्चा करने के आवश्यकता है।

TO :- इसमें किसी मूल व्यक्ति को ईमेल भेजा जाता है अथार्थ जिसे आप इस ईमेल को आवश्यक के तौर पर भेजना चाहते हैं।

CC :- CC जिसका अर्थ होता है कार्बन कॉपी यानी जब आप किसी के ईमेल सेंड करते हैं और आप चाहते है कि इसकी एक कॉपी किसी अन्य व्यक्ति के पास सेंड करें।तब आप CC का प्रयोग कर सकते है।CC से आप एक ईमेल को कई लोगो के साथ एक ही समय पर सेंड कर सकते है।परंतु यहां पर ध्यान देने की आवशयकता है कि आप जो किसी व्यक्ति को ईमेल सेंड कर रहे हैं और उसकी कॉपी अन्य लोगों के साथ भी शेयर कर रहे हैं तब इसकी जानकारी सेंड करने वाले यानी कि TO वाले व्यक्ति पता चल जाएगा।

उदाहरण के लिए –

To :- [email protected]://ail.com

CC :- [email protected]://ail.com

अगर हम abc को ईमेल सेंड करते हैं और यदि इसकी कॉपी xyz को सेंड करते हैं तब ऐसे में एबीसी को या पता चल जाएगा किस की एक कॉपी xyz के पास भी गई है।

BCC :-इसका पूरा नाम ब्लाइंड कार्बन कॉपी होता है। इसका प्रयोग सामान्यतः तब किया जाता है जब किसी व्यक्ति को ईमेल सेंड करना हो और इसकी एक कॉपी किसी अन्य व्यक्ति को सेंड करनी हो।इसमें जिसे ईमेल सेंड किया जा रहा है उसको यह पता नहीं चल पाता है कि इसकी एक कॉपी किसी अन्य व्यक्ति को सेंड कि गई है।जबकि CC में इसकी जानकारी प्राप्त (To) करने वाले व्यक्ति को हो जाता था।

उदाहरण के लिए –

To :- [email protected]

BCC :- [email protected]

जब आप TO वाले व्यक्ति को ईमेल सेंड करोगे और इसकी एक कॉपी xyz को सेंड करोगे तब इसका पता abc नहीं चल पाएगा।

चलिए एक और उदाहरण के द्वारा समझते है –

To :- [email protected]

CC :[email protected]

BCC :- [email protected]

अब यहां पर क्या होगा ना कि जब आप To वाले व्यक्ति को कोई भी मेल सेंड करते हैं और इसकी कॉपी CC और BCC को सेंड करते हैं तब ऐसे में TO को पता चल जाएगा कि इसकी कॉपी किसी अन्य को यानी (CC) को भेजी गई है परंतु To को यह नहीं पता चल पाएगा कि CC के अलावा BCC को भी ये ईमेल प्राप्त हुई है।लेकिन CC को यह पता रहता है यह ईमेल TO व्यक्ति को भेजी गई है और इसकी कॉपी मुझे प्राप्त हुई है परंतु TO और CC को यह पता नही होगा कि इसकी एक और कॉपी BCC को भेजी गई है।

इसमें आप किसी भी सेक्शन में यानी TO,CC और BCC में एक से अधिक ईमेल को जोड़कर एक साथ भेज सकते हैं।

यदि एक से अधिक ईमेल आईडी को BCC में डाला गया हो तब एक BCC को दूसरे BCC के बारे में पता नही चलता है।

निष्कर्ष के तौर पर हम कह सकते है कि मूल व्यक्ति को भेजी गई संदेश को CC की जानकारी होती है परंतु BCC की जानकारी नहीं होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »