इस साल 12वीं में 75 परसेंट से कम वाले विद्यार्थी भी आईआईटी कॉलेज में दाखिला ले सकते हैं ,जानिए कैसे

एमएचआरडी मिनिस्टर ने अपने ट्विटर पर यह जानकारी दी है कि इस साल बारे में 75 परसेंट से कम वाले विद्यार्थी भी आईआईटी कॉलेज में दाखिला ले सकते हैंl देशभर में इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी आईआईटी में प्रवेश के लिए 12वीं के न्यूनतम अंक की अनिवार्यता को 1 साल के लिए खत्म कर दिया हैl

अब तक सामान्य श्रेणी के कैंडिडेट को जेईई एडवांस में रैंक हासिल करने के साथ ही 12वीं में 75% या फिर फिर बोर्ड के टॉप 20 परसेंटाइल में शामिल होना अनिवार्य थाl आरक्षित श्रेणी के स्टूडेंट के लिए भी आईआईटी में एडमिशन के लिए 12वीं में न्यूनतम 65 परसेंट इसको या फिर टॉप 20 परसेंटाइल में शामिल होना अनिवार्य थाl लेकिन इस साल ऐसा नहीं होगा सिर्फ जेईई एडवांस के स्कोर पर ही स्टूडेंट को आईआईटी में एडमिशन मिल जाएगाl एमएचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल निशंक ने शुक्रवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी हैl

कोरोना वायरस महामारी की वजह से हुए लोगडाउन को देखते हुए सीबीएसई, सीआईएससी समेत कई स्टेट बोर्ड ने बचे हुए पेपर को रद्द करने का फैसला लिया थाl इन पेपरों में इंटरनल एसेसमेंट या पिछले प्रदर्शन पर एवरेज मार्क्स जैसे अलग-अलग तरीकों के जरिए नंबर दिए थेl इस वजह से स्टूडेंट ने सिर्फ स्कोर बिगड़ने को लेकर चिंतित थे, बल्कि इस बात की चिंता ज्यादा थी कि वे हायर एजुकेशन में प्रवेश के लिए12वीं में न्यूनतम स्कोर वाली अनिवार्यता को पूरा कर भी पाएंगे या नहींl अब आईआईटी के इस फैसले से इंजीनियरिंग में एडमिशन लेने जा रहे स्टूडेंट्स को खासी राहत मिलेगीl

पिछले महीने हुई ज्वाइंट इंप्लीमेंटेशन कमिटी की बैठक में भी इस बात पर सहमति बन गई थी कि 2020 के लिए 12वीं के स्कोर वाली अनिवार्यता को खत्म किया जाना चाहिएl जैसा कि आपको पता है कि जेईई एडवांस परीक्षा 27 सितंबर को होनी हैl कोरोना वायरस महामारी के चलते लगातार दूसरी बार इस परीक्षा को पोस्टपोन किया गया हैl

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
Translate »