इन स्टेशनों पर कई बार देखी जा चुकी है भूतों की होने की मौजूदगी, जानिए सच

आज हम आपको भारत के एसे रेल स्टेशनों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर अक्सर कई बार भूतों के मौजूद होने के संकेत मिलते रहते हैं।

पातालपानी रेलवे स्टेशन ( मध्य प्रदेश)

यह रेलवे स्टेशन मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में आता है। इस स्टेशन के बारे में कहा जाता है कि इस स्टेशन पर आने वाली ट्रेन नहीं रुकती है तो होता है बड़ा हादसा।

यहां के लोगों का कहना है कि जब अंग्रेजो द्वारा इस स्टेशन से अनाज ले जाया जाता था तो तांत्या नाम का एक शख्स इस स्टेशन से अनाज लूट लिया करता था और अनाज गरीबों में बांट दिया करता था।

एक दिन अंग्रेजों ने उसे अनाज लूटते हुए पकड़ लिया और उसे मार दिया। और उसके शरीर को स्टेशन के पास जंगलों में फेंक दिया। उसके बाद से ही ट्रेन दुर्घटनाएं होने लगी।

लगातार होते इन घटनाओं के मद्देनजर वहां के लोगों ने तांत्या नाम का एक मंदिर बनवाया और उसकी पूजा होने लगी। और तब से लेकर अब तक इस स्टेशन पर ट्रैन आकर रुकती है और तांत्या को सलामी देने के बाद ही ट्रेन यहां से गुजरती है। और कहा जाता है कि जब – जब यहां ट्रेन नहीं रुकी गयी तब – तब ट्रेन के साथ कुछ ना कुछ हुआ है।

बड़ोग रेलवे स्टेशन ( शिमला)

इस स्टेशन के पास एक सुरंग है जिसे बड़ोग सुरंग कहते हैं। इस सुरंग का निर्माण ब्रिटिश कर्मचारी कर्नल बड़ोग ने कराया था।

कहा जाता है कि कर्नल बड़ोग ने अन्य कर्मचारियों के सामने अपमानित होने के कारण यहां आत्महत्या कर ली थी.. और उनकी शरीर को इसी सुरंग में दफना दिया गया था। जिसके बाद से ही इस सुरंग से रात के समय चिल्लाते की आवाज आती है।

ओबरा डैम रेलवे स्टेशन (उत्तर प्रदेश)

यहां के लोगों का कहना है कि काफी वर्ष पहले यहां पर एक रेल दुर्घटना हुआ था जिसमें काफी लोगों की मौत हो गई थी। और तब से ही यहां के रलवे ट्रैक से रात को चिल्लाने की आवाज आती है।

यहां के गांव वासी और यहां से गुजरते यात्रियों ने भी ऐसा महसूस किया है कि रात में जब इस स्टेशन से ट्रेन पार होती है तो चिल्लाने की आवाज सुनायी देती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »