दादी मां का प्यार पढ़िए मजेदार कहानी।

एक गांव था जिसमें मानसी नाम की एक लड़की रहती थीमानसी अपनी दादी को बहुत प्यार करती थी एक दिन अचानक मानसी की दादी बीमार हो गई मानसी छोटी थी पर वह अपनी दादी के लिए कुछ नहीं कर पा रही थी वह दौड़ती हुई गांव के एक आदमी के पास गई जिसने मानसी की मदद करने से मना कर दिया फिर बात दौड़ती हुई एक डॉक्टर के पास गई डॉक्टर मानसी को देखकर अचंभित हो गया और उसके साथ चलने को तैयार हो गया डॉक्टर ने आकर देखा तो उसकी दादी को बहुत तेज बुखार था डॉक्टर ने मानसी की दादी को दवा दी और आराम करने को कहा लेकिन दादी भी आराम कैसे करती मानसी छोटी होने के कारण खाना तो पक्का नहीं सकती थी

इसलिए उसकी दादी को काम करना पड़ा दादी ने पकाया और रात होते ही मानसी और उसकी दादी ने खाना खाकर सो गई सुबह होते ही मानसी अपनी दादी से पहले उठी और काम करने लगी मानसी को कोई काम करना नहीं आता था फिर भी वह जैसे तैसे अपने काम मानसी धीरे-धीरे कुछ बड़ी हुई और काम करने के कारण वह पढ़ना चाहती थी लेकिन वह नाइंथ में फेल हो गईकिसी तरह से वह दूसरे साल पास हो गई फिर उसका एडमिशन हाई स्कूल में होना था एक दिन वह अपना एडमिशन करवाने स्कूल गई लेकिन उस दिन उसका एडमिशन नहीं हो पाया वह अपनी दादी से बोल कर गई थी कि वह मार्केट जा रही हैं लेकिन उधर ही वह स्कूल में जाकर अपने एडमिशन का पता लगा कल घर को वापस आई और अपनी दादी से अपने एडमिशन के बारे में बोलने लगी दादी ने उसे 1470 रुपए दिए और दूसरे दिन उसका एडमिशन हाई स्कूल में हो गया अब मानसी बहुत खुश थी और रोज स्कूल जाती थी हाई स्कूल में उसके बहुत अच्छे नंबर आए और फर्स्ट वीडियो से पास हो गई उसकी दादी धीरे-धीरे बीमार रहती थी और 1 दिन उसकी दादी का निधन हो गया अब मानती घर में अकेली पड़ गई थी लेकिन मानसिक बहुत ही हिम्मत वाली लड़की थी वह अपने स्कूल की फीस खुद काम करके इकट्ठा करती और पड़ती पढ़ते-पढ़ते बा आईएएस ऑफिसर बन गई और फिर अपने गांव के सभी गरीब लोगों के लिए उसने गांव में स्कूल बनवाएं और बहुत सारी सुविधाएं गरीब लोगों को देती रही मानसी अब सभी लोगों की चाहती हो सभी लोग मानसी से बहुत प्यार करते थे लेकिन मानसी अपनी दादी को कभी नहीं भूल पाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »