गांव के एक परिवार की यूट्यूब ने बदली किस्मत जाने कैसे हर महीने कमाती है 70 हजार रु

यूट्यूब पर वीडियो अपलोड करके आज लाखों लोग घर बैठे पैसे कमा रहे हैं वहीं जिन लोगों को यूट्यूब पर वीडियो अपलोड करने का तरीका तक मालूम नहीं था वह भी आज यूट्यूब पर चैनल बनाकर हर महीने अच्छे पैसे कमा रहे हैं आज हम आपको एक ऐसी ही महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने यूट्यूब पर चूल्हे पर खाना बनाने के वीडियो अपलोड करके लाखों रुपए कमा लिए हैं इनका नाम बबीता है यह हरियाणा के भिवानी जिले मैं स्थित नौरंगाबाद गांव में रहती हैं वही यूट्यूब पर वीडियो बनाने की शुरुआत उन्होंने सन 2017 में की थी वहीं का सबसे पहला वीडियो बनाकर इनके देवर रंजीत में यूट्यूब पर अपलोड किया था आपको बता दें कि गांव में रहने वाले अधिकतर लोग खाना बनाने के लिए चूल्हे का इस्तेमाल करते हैं वही आपको बता दें कि बबीता के देवर रंजीत ने यूट्यूब पर पहला वीडियो अपने ₹10000 के स्मार्टफोन से बनाया था तब उन्हें वीडियो बनाकर अपलोड कैसे किया जाता है एवं एडिटिंग का भी बिल्कुल नॉलेज नहीं था लेकिन यूट्यूब पर देख कर यह सब सीख लिया और जब रंजीत की भाभी बबीता चूल्हे पर खाना पका रही थी

तब उन्होंने एक वीडियो शूट करके यूट्यूब पर अपलोड कर दिया यह वीडियो लोगों को इतना पसंद आया कि मात्र 2 दिनों में इस वीडियो को लाखों लोगों ने देखा इसके बाद हर हफ्ते रंजीत अपनी भाभी का खाना पकाते हुए वीडियो बनाकर यूट्यूब पर अपलोड करने लगा जब उनके चैनल पर सब्सक्राइबर और अधिक लोग देखने लगे तो यूट्यूब ने उनके चैनल को मोनेटाइज कर दिया और उनसे उनका अकाउंट नंबर भी मांगा लेकिन गांव में रहने वाले लोग उनसे कहने लगे कि पैसे अकाउंट में नहीं आते हैं वही कुछ महीने बाद जब उनके अकाउंट में यूट्यूब ने ₹13400 डाले तो वह एवं उनका परिवार काफी खुश हुआ जिसके बाद वह हर महीने कुकिंग के 5 वीडियो बनाकर अपलोड करने लगे और एक समय तो उनके अकाउंट में यूट्यूब में ₹200000 का पेमेंट भी ट्रांसफर किया वही रंजीत ने बताया कि यूट्यूब से हर महीने वह 60 से ₹70000 कमा लेते हैं वही उनकी भाभी बबीता को भी उन्होंने वीडियो शूट करने का तरीका बता दिया है जब रंजीत घर पर नहीं होते हैं तो उनकी भाभी बबीता खुद वीडियो बनाकर यूट्यूब पर अपलोड कर देती हैं उन्होंने अपने चैनल का नाम इंडियन गर्ल बबीता विलेज रखा है फिलहाल उनकी इस चैनल पर चार लाख से ज्यादा सब्सक्राइबर हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »