आपकी लिपस्टिक इन खतरनाक चीजों से बनी है जानिए कौन सी है ये चीजे

लेड
आमतौर पर सभी तरह के ब्रांडेड लिपस्टिक को बनाने में लेड का उपयोग किया जाता है। जबकि लीड का महिला और बच्चों के स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इसके साथ ही वे पुरूष जो लीड से बने हेयर डाई की मदद से अपने बालों को रंगते हैं, उनके लिए भी यह चिंता का विषय है। लीड हर उम्र के लोगों को प्रभावित करता है। खासकर बच्चों को लीड से बने उत्पादों से दूर रखें। लीड में न्यूरोटाॅक्सिन होता है जो सीधे-सीधे दिमाग पर असर डालता है।

क्रोमियम
लिपस्टिक बनाने में क्रोमियम का भी इस्तेमाल किया जाता है। एक अध्ययन के अनुसार महिलाएं औसतन 24 मिलीग्राम लिपस्टिक का रोजाना सेवन करती हैं। जो महिलांए लिपस्टिक री-अप्लाई यानी बार-बार लगाती हैं, वे औसतन 87 मिलीग्राम लिपस्टिक का सेवन रोजाना करती हैं। इस तरह देखा जाए तो महिलाएं जाने-अनजाने लिपस्टिक में मौजूद घातक तत्वों का सेवन कर बैठती हैं। क्रोमियम भी उन्हीं में से एक है। क्रोमियम के सेवन से पेट में ट्यूमर हो सकता है।

कैडमियम
लिपस्टिक में कैडमियम का उपयोग भी होता है। कैडमियम उन महिलाओं के लिए ज्यादा खतरनाक है जिन्हें डायबिटीज और रीनल डिजीज (किडनी फेल होने का अंतिम चरण) है। विशेषज्ञों का कहना है कि कैडमियम नामक यह तत्व आपके शरीर को कई तरह से और अलग-अलग स्तर पर प्रभावित करता है। इसके साथ ही यह बात भी मायने रखती है कि आपको किस तरह की शारीरिक समस्या है। अतः अगर कोई महिला बहुत ज्यादा लिपस्टिक का यूज करती है, तो उसे किडनी की समस्या होन की आशंका बढ़ जाती है।

मैंगनीज-एलम्यूनियम
हालांकि हमारे शरीर के लिए मैंगनीज एक उपयोगी पोषक तत्व है। लेकिन मैंगनीज का अतिरिक्त सेवन किया जाना सही नहीं है। इससे पर्किंसन और इसके लक्षण बढ़ सकते हैं। इसी तरह एल्यूमीनियम जो कि एक न्यूरोटाॅक्सिन है, आपके लिए शरीर के लिए सही नहीं है। इसकी आपके शरीर पर किसी तरह की बायोलॉजिकल भूमिका नजर नहीं आती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »