यूपी में 6 भत्तों पर योगी सरकार ने चलाई कैंची, 16 लाख राज्य कर्मचारियों पर हुआ असर

देशभर में लगे लॉकडाउन के बीच आर्थिक संकट के चलते उत्तर प्रदेश
में सरकार के 16 लाख कर्मचारियों के 6 भत्तों पर स्थाई तौर से रोक
लगा दी हैं। सरकार के इस फैसले से राज्य के 16 लाख कर्मचारियों
को झटका लगा है।

मंगलवार को इससे संबंधित आदेश भी जारी
कर दिया गया। एक अनुमान के मुताबिक इन भत्तों के खत्म होने से
सरकार को सालाना 1500 करोड़ की बचत होगी। वित्त विभाग ने
यूपी सरकार से इन भत्तों को खत्म करने की सिफारिश की थी।


सरकार ने आदेश जारी कर नगर प्रतिकार, सचिवालय भत्ता,
पीडब्लूडी के कर्मचारियों को मिलने वाले भत्ते, अवर अभियंताओं को
मिलने वाले भत्तों को हमेशा के लिए समाप्त कर दिया।

सरकार के इस फैसले से राज्य के कर्मचारियों में दुखी हैं। कर्मचारी संगठनों का
कहना है कि सरकार ने कर्मचारियों के साथ धोखा किया।
इससे पहले पिछले महीने योगी सरकार ने महंगाई भत्ते पर रोक लगाने
का फैसला लिया था। जिसमें कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को डीए
नहीं मिलेगा, कर्मचारियों का 1 जनवरी 2020 से जून 2021 तक का
महंगाई भत्ता बंद रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »