पत्नी नें मांगा बेसमेंट में एक कमरा, पति ने बना डाला ज़मीन के नीचे महल जानिए फिर क्या हुआ

आपने बहुत सारे महल देखे होंगे लेकिन क्या कभी आपने कभी घर के बेसमेंट में महल देखा है? जी हां यह खबर सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। यह खबर है आर्मेनिया के अरिंज गांव में रहने वाली तोस्या की जिसने अपने पति से घर के बेसमेंट में आलू रखने के लिये एक कमरा बनने को कहा था।

चौंकाने वाली बात तो यह है की उस महिला की इस ख्वाहिश को पूरा करने के लिए उसके पति ने अपनी जिंदगी के 23 साल लगा दिए दरअसल तोस्या अपने घर के बेसमेंट में एक कमरा बनवाना चाहती थी। तोस्या के पति लेवोन अरकेल्यान ने अकेले एक आलीशान महल बनाया है जिसको देखकर आप हैरान रह जाएंगे।

कुछ ऐसी है महल की बनावट

महल में गुफाएं और नहरें है। इस महलनुमा घर को जमीन के अंदर मध्ययुगीन इमारत की शक्ल दी गई है। दरवाजों को मेहराब की शक्ल दी गई है। दीवारों पर बड़े-बड़े आले उकेरे गए हैं।

तोस्या के पति की मृत्यु 2008 में हो गई थी। तोस्या इस महल को अपने प्यार की निशानी भी कहती हैं। लेवोन अरकेल्यान ने इसको बनाने की शुरूआत 1985 में की थी। तोस्या कहती हैं की “लेवोन ने जब एक बार खुदाई शुरू की तो फिर उसके बाद उन्होंने रूकने का नाम ही नहीं लिया। मैंने उन्हें कई बार रोकना चाहा लेकिन वे अपनी योजना पर अडिग रहे उन्होंने घर बनाने का प्रशिक्षण लिया था। इस काम के लिए वे रोज 18 घंटे काम करते थे। काम के दौरान वे कुछ देर की झपकी लेते उसके बाद फिर गुफा खोदने में जुट जाते। उन्हें भरोसा था कि ईश्वर उनकी मदद कर रहा है।

इस कार्य को अंजाम देने में उन्हें 20 साल से ज्यादा समय लग गया। इस बात का अंदाज़ा आपको तब होगा जब आपको पता चलेगा की लेवोन को खुदाई में 600 ट्रक मिट्टी और पत्थर निकाले थे और आपको बता दें 2008 में महल की एक दीवार टूट गई थी जिसके चलते लेवोन को हार्टअटैक आया और 67 साल में उनकी मौत हो गई। लेवोन का बनाया यह महल आज पर्यटक स्थल बन गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »