राम का वनवास 14 साल का ही क्यों था,जानिए इसके पीछे क्या था रहस्य

दोस्तों, जैसा कि आप सभी जानते हैं कि रामायण में राम को 14 वर्ष का वनवास मिला था जिसके कारण उन्हें 14 वर्ष जंगल में रहना पड़ा था उसकी सबसे बड़ी वजह थी उनकी माता कैकयी थी.जिनके कारण उन्हें 14 साल का बनवास मिला लेकिन आपको यह नहीं पता कि उन्हें 14 वर्ष का वनवास ही क्यों मिला पूरे जीवन का क्यों नहीं है मिला, तो चलिए आपको हम बताते हैं.

जैसा कि आपने रामायण में सुना है कि जब दशरथ युद्ध करने जा रहे थे तो उनकी मदद कैकयी ने की थी तब दशरथ ने खुश होकर उन्हें दो वरदान दे दिए थे. जिसे केकई ने एक वरदान में राम को 14 वर्ष का वनवास मांगा था दूसरे वरदान में उसने अपने पुत्र को राजगद्दी मांगी थी।

रामायण की कहानी त्रेतायुग के समय की है अगर उस समय कोई राजा 14 वर्षों के लिए अपना राजपाट छो़ड़ देता था। तो वह दोबारा राजा नहीं बन सकता है। इसलिए कैकेयी ने सोच समझ कर ही राम के लिए 14 वर्ष का वनवास माँगा था। क्योकि 14 वर्ष राजपाट से दूर रहने के बाद वह राजा नहीं बन सकते थे।

लेकिन भरत ने उस राजगद्दी को वैसे ही छोड़ दिया और खुद वनवासियों जैसा जीवन बिताने लगे और राम के वापस आने पर राम को राजपाट सौंप दिया था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »