कोरोना के खिलाफ भारत के एक्शन पर क्या कहा WHO ने, जानिए पूरी जानकर

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मंगलवार को की गई घोषणा में 3 मई तक मौजूदा लॉकडाउन बढ़ाने के रूप में कोरोना वायरस के खिलाफ “भारत की सख्त और समय पर कार्रवाई” की तारीफ की है।

भारत की वाहवाही करते हुए डब्ल्यूएचओ की साउथ-ईस्ट एशिया रीजनल डायरेक्टर, डॉ. पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा कि, “अभी परिणामों के बारे में बात करना जल्दबाजी होगी, लेकिन 6 हफ्तों का देशव्यापी लॉकडाउन फिजीकल डिस्टेंसिंग को प्रभावी रूप से लागू करने और कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की जांच, आइसोलेशन और कॉन्टेक्ट ट्रैसिंग (Contact Tracing) करने में काफी मदद करेगा और यह कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।”

इंडिया ने कोरोना वायरस की महामारी को फैलने से रोकने के लिए शुरुआत में ही सोशल डिस्टेंसिंग, स्क्रीनिंग और लॉकडाउन की घोषणा कर दी थी। जिससे देश में इस महामारी के फैलने का खतरा काफी हद तक कम हुआ है। वरना, भारत जैसी घनी आबादी वाले और विकासशील देश में यह वायरस काफी खतरनाक अंजाम दे सकता था।

पीएम मोदी ने 24 मार्च की आधी रात से ही 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा कर दी थी, जो कि 14 अप्रैल को समाप्त होने वाली थी। लेकिन, हालात को देखते हुए यह लॉकडाउन 3 मई तक आगे बढ़ा दिया गया। इसके अलावा भारत ने सही समय पर अपने हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर में इंवेस्टमेंट शुरू कर दी है और पहले ही आइसोलेशन बेड, अस्पताल और कोरोना वायरस की टेस्टिंग करने वाले लैब की संख्या बढ़ानी शुरू कर दी है। इन सभी ठोस एक्शन की वजह से पूरी दुनिया और विश्व स्वास्थ्य संगठन भारत की तारीफ करने में लगा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »